चिल्लर की भरमार सुलभ शौचालय कर्मी पर पड़ी भारीः जानें पूरा मामला

कोलकाताः देश में नोटबंदी के बाद से ही भले ही पांच सौ, दो हजार के बड़े नोटों की कमी देखी गयी, लेकिन नोटबंदी के बाद से ही देश में चिल्लर की भरमार हो गयी हैं. चिल्लर की बहुतायत से बस, टैक्सी और परचून की दुकानों पर मारामारी की नौबत आ जा रही है. ग्रामीण इलाकों में तो लोग एक रुपये के सिक्के लेते ही नहीं. कोलकाता में भी लोगों को चिल्लर देखते ही एक दूसरे के ऊपर लाल पीला होते देखा जा रहा है. कोलकाता में इन दिनों एक, दो, पांच और दस रुपये का चिल्लर लोगों के लिये जी का जंजाल बन गया हैं. किसी भी चाय, बीड़ी, सिगरेट या मोदी खाना के दुकान में जाने पर अगर आप 50 रुपये का नोट देकर 20 रुपये का सामान लेते हैं तो दुकानदार 10 को एक नोट और बीस रूपये का चिल्लर आपके हाथों में पकड़ा दे रहा है. चिल्लर भी पांच रुपये के नहीं, बल्कि एक रुपये का दस चिल्लर और दो रुपये का पांच चिल्लर लोगों के हाथों में पकड़ा दिया जा रहा है. चिल्लर की भरमार का कोलकाता में आलम यह हैं कि एक आदमी को अधिक चिल्लर देने के कारण हुये विवाद के बाद जेल की हवा खानी पड़ी.

एनआरएस मेडिकल कालेज में घटी घटना

देश में नोटबंदी के बाद से ही भले ही बड़े पांच सौ, दो हजार के नोटो की कमी देखी गयी, लेकिन नोटबंदी के बाद से ही देश में चिल्लर की भरमार भी हो गयी हैं. इन दिनों विशेषकर कोलकाता में लोगों को चिल्लर देखते ही एक दूसरे के ऊपर लाल पिला होते देखा जा रहा है. कोलकाता में इन दिनों एक और दो रुपये का चिल्लर लोगों के लिये जी का जंजाल बन गया हैं. किसी भी चाय, बीड़ी, सिगरेट या मोदी खाना के दुकान में जाने पर अगर आप 50 रुपये का नोट देकर 20 रुपये का सामान लेते हैं तो दुकानदार 10 को एक नोट और बीस रूपये का चिल्लर आपके हाथों में पकड़ा दे रहा है. चिल्लर भी पांच रुपये के नहीं, बल्कि एक रुपये का दस चिल्लर और दो रुपये का पांच चिल्लर लोगों के हाथों में पकड़ा दिया जा रहा है. चिल्लर की भरमार का कोलकाता में लम यह हैं कि एक आदमी को अधिक चिल्लर देने के कारण हुये विवाद के बाद जेल की हवा खानी पड़ी हैं.
सुलभ शौचालय का चित्र

कोलकाता के सियालदह स्टेशन के समीप नील रतन सरकार मेडिकल कालेज(एनआरएस) है. इस अस्पताल में एक महिला मरीज शौच के लिये ही अस्पताल के सुलभ शौचालय पहुंची थी. अस्पताल सूत्रों के मुताबिक मुर्शिदाबाद से ईलाज के लिये अस्पताल में पहुंची. महिला सुरभि सरकार एमरजेंसी और फ्रेजर बिल्डिंग के बीच सुलभ शौचालय में शौच करने गयी थी. जब शौच करने के बाद वहां तैनात सुलभ शौचालय कर्मी को महिला ने दस रूपये दिये, तो उस कर्मी ने महिला को एक रुपये के आठ सिक्के पकड़ा दिये. इस पर महिला आग बबूला हो गयी और उसने कर्मी से पांच रुपये के सिक्के की मांग की. लेकिन सुलभ कर्मी एक रुपये के सिक्के देने की बात पर अड़ा रहा. दोनों के बीच इस मुद्दे को लेकर बहस होने लगी. अपनी पत्नी के साथ सुलभ कर्मचारी का विवाद देख, महिला के पति काजल सरकार घटना स्थल पर पहुंचे.

महिला और उसके पति के साथ मारपीट करने का आरोप

देश में नोटबंदी के बाद से ही भले ही बड़े पांच सौ, दो हजार के नोटो की कमी देखी गयी, लेकिन नोटबंदी के बाद से ही देश में चिल्लर की भरमार भी हो गयी हैं. इन दिनों विशेषकर कोलकाता में लोगों को चिल्लर देखते ही एक दूसरे के ऊपर लाल पिला होते देखा जा रहा है. कोलकाता में इन दिनों एक और दो रुपये का चिल्लर लोगों के लिये जी का जंजाल बन गया हैं. किसी भी चाय, बीड़ी, सिगरेट या मोदी खाना के दुकान में जाने पर अगर आप 50 रुपये का नोट देकर 20 रुपये का सामान लेते हैं तो दुकानदार 10 को एक नोट और बीस रूपये का चिल्लर आपके हाथों में पकड़ा दे रहा है. चिल्लर भी पांच रुपये के नहीं, बल्कि एक रुपये का दस चिल्लर और दो रुपये का पांच चिल्लर लोगों के हाथों में पकड़ा दिया जा रहा है. चिल्लर की भरमार का कोलकाता में लम यह हैं कि एक आदमी को अधिक चिल्लर देने के कारण हुये विवाद के बाद जेल की हवा खानी पड़ी हैं.

इस दंपत्ति के साथ शौचालय कर्मी की बहस इस हद तक पहुंच हो गयी कि दोनों में हाथापाई शुरू हो गयी. आरोप लगाया गया है कि सुलभ शौचालय कर्मी में महिला को प्रताड़ित करने के साथ उनके पति काजल सरकार की जमकर पिटाई कर दी. दोनों में हाथापाई होते देख अस्पताल में स्थित कोलकाता पुलिस के आउटपोस्ट के अधिकारी और जवान भी घटना स्थल पर पहुंच गये और महिला एवं उसके पति के द्वारा लगाये गये आरोप के बाद पुलिस ने मारपीट के आरोप में उस सुलभ शौचालय कर्मी को गिरफ्तार कर लिया. महिला सुरभि सरकार ने आरोप लगाया है कि उस कर्मचारी के पास पांच और दो रुपये के भरपूर चिल्लर थे. बार बार पांच रुपये का सिक्का मांगने के बावजूद भी वह युवक महिला के साथ अपशब्द का इस्तेमाल कर उसे प्रताड़ित करने लगा. जब पति ने इसका विरोध किया तो मेरे पति पर भी उसने हाथ उठाया. उसके बाद हमने अस्पताल में तैनात पुलिस के अधिकारियों को इस घटना की जानकारी देकर, युवक के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी. मालूम हो कि इस सुलभ कर्मी के खिलाफ कोलकाता पुलिस के इंटाली थाने में धारा 323, 341 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने आरोपी कर्मी को अपनी हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *