Breaking News
Home / Business / Economy / पेट्रोल की कीमतों ने तोड़ा 3 साल का रिकॉर्ड, जुलाई से अब तक ₹6/लीटर की बढ़ोत्तरी

पेट्रोल की कीमतों ने तोड़ा 3 साल का रिकॉर्ड, जुलाई से अब तक ₹6/लीटर की बढ़ोत्तरी

इस साल जुलाई से पेट्रोल के दाम 6 रुपये लीटर बढ़े हैं। इस समय पेट्रोल की दर तीन साल के अपने उच्चस्तर पर है। पेट्रोल कीमतों में प्रतिदिन मामूली संशोधन होता है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों के आंकड़ों के अनुसार जुलाई की शुरुआत से डीजल कीमतों में 3.67 रुपये लीटर की बढ़ोतरी हुई है। इस समय दिल्ली में डीजल 57.03 रुपये लीटर के अपने चार महीने के उच्चस्तर पर है। 16 जून को दिल्ली में पेट्रोल का दाम 65.48 रुपये लीटर था जो 2 जुलाई को घटकर 63.06 रुपये रुपये लीटर पर आ गया। हालांकि उसके बाद से सिर्फ चार दिन छोड़कर प्रतिदिन पेट्रोल कीमतों बढ़ोतरी हुई है। इन चार मौकों पर पेट्रोल का दाम 2 से 9 पैसे लीटर घटा था।

इसी तरह डीजल का दाम 16 जून को 54.49 रुपये लीटर था। यह 2 जुलाई को 53.36 रुपये लीटर पर आ गया। उसके बाद से डीजल का दाम बढ़ रहा है। दिल्ली में इस समय पेट्रोल का दाम 69.04 रुपये प्रति लीटर है। यह अगस्त, 2014 के दूसरे पखवाड़े के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है। उस समय पेट्रोल 70.33 रुपये लीटर है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों ने जून में महीने की पहली और 16 तारीख को कीमतों में संशोधन की 15 साल पुरानी परंपरा को छोड़ दिया था। 16 जून से कीमतों में प्रतिदिन मामूली बदलाव किया जाता है।

इस बीच सरकारी शोध संस्थान नीति आयोग ने अपनी तीन वर्षीय कार्ययोजना में डीजल-पेट्रोल की कीमतों में सुधार और 100 स्मार्ट सिटी में शहरी गैस वितरण प्रणाली की तरफदारी की है। आयोग ने सरकार को सुझाव दिया है कि 2019-20 तक लागू की जाने वाली इस कार्ययोजना के तहत उसे सभी परिवारों को बिजली, पेट्रोल, डीजल और गैस की प्रतिस्पर्धी दरों पर उपलब्धता सुनिश्चित करनी चाहिए। इस कार्ययोजना के तहत आयोग ने अर्थव्यवस्था, न्यायिक, नियामकी और सामाजिक क्षेत्रों में व्यापक सुधार का खाका पेश किया है।

About Samagya

Check Also

धर्म को बेचने वाले पसंद नहीं : ममता

Share this on WhatsAppगिरीश पार्क फाइव स्टार स्पोर्टिंग क्लब पूजा पंडाल का किया उद्घाटन कोलकाता, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *