आतंकी अबु दुजाना का आखि‍री फोन कॉल, जानें मारे जाने से पहले क्‍या हुई थी बात

पुलवामा में एक अगस्‍त को जब लश्‍कर आतंकी अबु दुजाना को सेना ने घेर लिया तो उसको सरेंडर करने के लिए कहा गया था लेकिन उसने ऐसा करने से इनकार कर दिया था. उसके बाद एनकाउंटर में वह मारा गया. द टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मुठभेड़ से चंद मिनट पहले एक फौजी अफसर ने एक स्‍थानीय नागरिक की मदद से दुजाना को सरेंडर करने के लिए कहा. उस कश्‍मीरी ने पहले दुजाना से एक मिनट तक बात की और उसके बाद फोन फौजी अफसर को दे दिया.

दुजाना ने फोन पर उस फौजी अफसर से पूछा, ”क्‍या हाल है? मैंने कहा, क्‍या हाल है?” अफसर ने जवाब दिया, ”हमारा हाल छोड़ दुजाना, तुम सरेंडर क्‍यों नहीं कर देते? तुमने इस लड़की से शादी की है. तुम जो कर रहे हो, वो सही नहीं है.” अफसर ने दुजाना को समझाने की कोशिश करते हुए कहा कि पाकिस्‍तानी एजेंसियां नौजवानों का इस्‍तेमाल करके कश्‍मीर का माहौल खराब करना चाहती हैं. इस पर दुजाना ने कहा, ”हम निकले थे शहीद होने. मैं क्‍या करूं. जिसको गेम खेलना है खेलो. कभी हम आगे, कभी आप, आज आपने पकड़ लिया, मुबारक हो आपको. जिसको जो करना है कर लो.”

उसके बाद अफसर ने अंतिम रूप से जब उसको सरेंडर करने को कहा तो दुजाना ने कहा, ”सरेंडर नहीं कर सकता. जो मेरी किस्‍मत में लिखा होगा, अल्‍लाह वही करेगा, ठीक है?” हालांकि बातचीत की कड़ी में अबु दुजाना ने ये माना कि उसके माता-पिता गिलगिट-बाल्टीस्तान में रहते हैं जो पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वा प्रांत में स्थित है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *