अमेरिका से इलाज करवाकर दिल्ली लौटे जेटली, अब संभालेंगे पार्टी के प्रचार की जिम्मेदारी

इलाज करवाने के लिए अमेरिका गए केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली दिल्ली लौट आए हैं. एक हफ्ते पहले ही उन्होंने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए बताया था कि उनकी सेहत में काफी सुधार है और जल्द ही देश लौट जाएंगे. उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी और कहा कि मुझे घर लौटकर खुशी हो रही है. इससे पहले जेटली ने कहा था, ‘मेरी सेहत में काफी सुधार है. आपको ज्यादा समय इंतजार नहीं करना पड़ेगा. आशा है जल्द ही दिल्ली लौटूंगा.’

उनकी तबीयत खराब होने के बाद लालू यादव, चिदंबरम और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम विपक्षी नेताओं ने उनके जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी. राहुल गांधी ने कहा था, ‘यह सुनकर दुखी हूं कि जेटली जी अस्वस्थ हैं. हम उनके विचारों को लेकर उनसे हर रोज लड़ते हैं. बहरहाल, मैं और कांग्रेस पार्टी की तरफ से कामना करता हूं कि वह शीघ्र स्वस्थ हों. जेटली जी, इस मुश्किल वक्त में हम आपके और आपके परिवार के साथ हैं.’

नरेंद्र मोदी सरकार में 5 बजट पेश कर चुके जेटली एक पखवाड़े से अधिक समय से अमेरिका में इलाज करवा रहे थे. किडनी संबंधी बीमारी की इलाज के लिए जेटली अमेरिका गए थे. उनकी अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल को सौंपा गया था, जिसके बाद उन्होंने बीते एक फरवरी को केंद्रीय अंतरिम बजट पेश किया. जेटली (66) का मई 2018 में किडनी प्रत्यारोपण हुआ था, तब भी उनके मंत्रालयों का प्रभार गोयल ने संभाला था.

इस दौरान जेटली बिना पोर्टफोलियो के मंत्री थे. 14 मई, 2018 से 23 अगस्त, 2018 तक वह बिना पोर्टफोलियो के मंत्री रह चुके हैं. अरुण जेटली इसके अलावा रक्षा मंत्रालय, कॉरपोरेट मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. 14 मई, 2018 को जेटली ने अपनी गुर्दा प्रत्यारोपण सर्जरी करवाई थी. इसी वजह से जेटली पिछले साल अप्रैल से लेकर अगस्त तक अपने नार्थ ब्लॉक स्थित कार्यालय से अनुपस्थित रहे थे. उन्होंने सर्जरी के बाद दोबारा 23 अगस्त 2018 को पदभार संभाला था.

तबीयत बिगड़ने पर 13 जनवरी को वे अमेरिका रवाना हुए थे. जहां उनका सफल ऑपरेशन हुआ और डॉक्टर ने ऑपरेशन के बाद दो हफ्ते के आराम की सलाह दी थी. लोकसभा चुनाव से पहले जेटली के वतन लौटने से भारतीय जनता पार्टी को भी काफी राहत मिली है. बता दें कि उनके अमेरिका जाने से पहले पार्टी ने उन्हें आगामी आम चुनाव के लिए भाजपा का प्रचार प्रमुख बनाया था. अब जब वह लौट गए हैं तो उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही वो चुनावी मैदान में लोगों के बीच नजर आएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *