Breaking News
Home / News / India / Delhi / सीबीआई ने 400 करोड़ रुपये से अधिक रकम विदेश भेजने के लिये 19 कंपनियों पर मामला दर्ज किया

सीबीआई ने 400 करोड़ रुपये से अधिक रकम विदेश भेजने के लिये 19 कंपनियों पर मामला दर्ज किया

नयी दिल्ली, नौ सितंबर : सीबीआई ने उन 19 ​कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिन्होंने तकरीबन 700 लेन—देन के जरिये विदेशों में 424 करोड़ रुपये भेजे हैं। जांच एजेंसी को मुखौटा कंपनियों के जरिये धन शोधन किये जाने का मामला होने का संदेह है।

यह आरोप है कि 2015 में पंजाब नेशनल बैंक :पीएनबी:, मिंट स्ट्रीट शाखा, चेन्नई के अज्ञात अधिकारियों ने 19 आरोपी कंपनियों के साथ साजिश रची। इन कंपनियों का बैंक की शाखा में खाता था।

इस संबंध में कल शाम दर्ज की गई प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है, ‘साजिश के मद्देनजर उपरोक्त कंपनियां बिना किसी सही व्यापारिक लेन—देन के हांगकांग को विदेशी मुद्रा भेज रही थीं।’ प्राथमिकी में कहा गया है कि इस प्रकार खोले गए खातों का विदेशों में धन भेजने में इस्तेमाल किया जा रहा था।

प्राथमिकी में कहा गया है, ‘यह तरीका था कि ग्राहकों को आरटीजीएस: रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट: के जरिये उनके खातों में विभिन्न अन्य बैंकों से धन मिले। ग्राहकों ने 100 फीसदी अग्रिम धन के लिये विदेशी आपूर्तिकर्ताओं द्वारा जारी दर के साथ अपना अनुरोध पेश किया।’ यह आरोप लगाया गया कि दर सूची के आधार पर ग्राहक ने विदेशी आपूर्तिकर्ता से भेजी गई रकम के लिये अनुरोध किया। ‘भेजी गई रकम की राशि इस तरह से रखी गई कि यह प्रत्येक भेजी गई रकम के लिये एक लाख डॉलर की सीमा को पार नहीं करे ताकि नियामक जरूरतों का उल्लंघन नहीं करे।’ सीबीआई ने कहा कि जनवरी 2015 से मई 2015 के बीच विभिन्न चालू खातों के ​जरिये आयात के लिये 700 लेन-देन के लिये अग्रिम रकम भेजी गई। कुल राशि 424.58 करोड़ रुपये थी।

सीबीआई ने कहा, ‘सारी अग्रिम रकम नॉस्ट्रो :पीएनबी का विदेशी बैंक में विदेशी मुद्रा में खाता: खाता के जरिये भेजी गई जिसे एचएसबीसी, न्यूयॉर्क मेंटेन रखता है।’ बैंक ने पाया था कि कोई भी इकाई दिये गए पते पर काम नहीं कर रही थी।

About Samagya

Check Also

Xiaomi Redmi 5A लॉन्च, एक बार चार्ज करने पर 8 दिन चलेगी बैटरी, कीमत भी कम

Share this on WhatsAppस्मार्टफोन बनाने वाली चीनी कंपनी शियोमी रेडमी ने अपना नया स्मार्टफोन Xiaomi …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *