गोविंदा जैसे आलोचक ही मुझे इंसान बनाते हैं: वरुण धवन

पिछले दिनों बॉलिवुड के हीरो नम्बर वन गोविंदा ने नवभारतटाइम्स डॉट कॉम से बातचीत में वरुण धवन और डेविड धवन पर जमकर गुस्सा उतारा था। गोविंदा का यह गुस्सा खास तौर पर डेविड के लिए था, लेकिन जब गोविंदा ने अपनी भड़ास निकालनी शुरू की तो इस गुस्से की आग में वरुण धवन भी खूब झुलसे। गोविंदा ने वरुण को लेकर कहा था कि डेविड और वरुण ने इंडस्ट्री में ऐसा माहौल बना दिया है जिससे बॉलिवुड में खाली पड़ी उनकी जगह में वरुण फिट हो जाएं। यही वजह है कि बार-बार वरुण के लिए यह कहा जाता है कि वह बॉलिवुड का नया गोविंदा है। गोविंदा के इन तमाम आरोपों और गुस्से का जवाब वरुण ने बड़ी शालीनता से दिया।

नवभारतटाइम्स डॉट कॉम से बातचीत में वरुण ने कहा, ‘मैने तो टीवी पर अपने सीनियर के इंटरव्यू देख-देख कर नकरात्मक सवालों को इग्नोर करना सीख लिया है और वही पैंतरा मैं यहां इस्तेमाल करता हूं लेकिन आज मैं आपको गोविंदा जी से जुड़े इस सवाल का जवाब ईमानदारी से दूंगा।’

वरुण कहते हैं’ ‘ईमानदारी से कहूं तो जब भी कोई मेरे बारे में बुरा कहता है या मेरी आलोचना करता है तो मुझे अच्छा लगता है। हम लोग आज कल इतनी ज्यादा बनावटी और इन्टरनेट टेक्नॉलजी की दुनिया में रहते हैं कि कुछ लोगों की आलोचना भी जरूरी हो जाती है, इससे अपने अंदर सुधार होता है। मुझे मेरे आलोचक और आलोचना दोनों ही बहुत अच्छे लगते हैं। इससे यह पता चलता है कि मैं चलता-फिरता इंसान हूं वरना आजकल का जमाना तो प्लास्टिक का हो गया है। प्लास्टिक के लोग और प्लास्टिक की हंसी, अधिकतर चीजें दिखावटी हैं।’

वरुण आगे कहते हैं, ‘देखिये मैंने कभी भी खुद को नहीं कहा कि मैं गोविंदा जैसा हूं या उनके जैसा बनना चाहता हूं, मैं कभी भी उनकी तरह नहीं बन सकता हूं। गोविंदा जी महान और टैलंटेड ऐक्टर हैं। मेरी समानताएं उनके साथ कभी भी नहीं हो सकती हैं, उन्होंने बिलकुल ठीक कहा है, कुछ भी गलत नहीं कहा है। वह एक अलग जगह और माहौल से आये हैं, इसके ठीक विपरीत मैं एकदम अलग माहौल में बड़ा हुआ हूं। अब मैं ऐसे परिवार में पैदा हुआ और पला-बढ़ा तो इसमें तो मेरी कोई गलती नहीं है। अब मैं इस बात के लिए तो माफी भी नहीं मांग सकता हूं। मैंने थोड़ी न प्लान किया था कि मुझे कहां पैदा होना है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *