समाज्ञा

आमिर खान ने धारा 377 रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का किया धन्यवाद

आमिर खान अक्सर एलजीबीटी समुदाय मुद्दे पर अपनी सहमति पेश करते आये है और आज धारा 377 रद्द होने की खुशी में आमिर खान ने सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद किया है।
इससे पहले सत्यमेव जयते के तीसरे सीजन के तीसरे एपिसोड में दर्शकों से बातचीत के दौरान आमिर खान ने एलजीबीटी समुदाय को समाज और सरकार से हो रही परेशानियों के मुद्दे पर विस्तार से बात की थी।
चूंकि, भारत के सुप्रीम कोर्ट ने एक औपनिवेशिक युग कानून को समलैंगिक यौन उत्पीड़न का उल्लंघन कर दिया है और इसी के साथ एलजीबीटी का 150 से अधिक वर्षों का विरोधी कानून खत्म कर दिया गया है और इसी उपलब्धि में आमिर खान ने अपने सोशल मीडिया पर सरकार का धन्यवाद किया है।
आमिर खान ने ट्विटर पर सत्यमेव जयते की वीडियो साझा करते हुए लिखा,”हम सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करते है कि उन्होंने अपने निर्णय से 377 धारा रद्द कर दी है। यह उन लोगों के लिए एक ऐतिहासिक दिन है जो समान अधिकार में विश्वास करते है। न्यायपालिका ने अपना कर्तव्य निभाया, और अब हमें हमारा कर्तव्य निभाना है।”
इंडियन पैनल कोड (आईपीसी) की धारा 377 के तहत, 157 वर्षीय पुराना यह कानून कुछ यौन कृत्यों को अपराधी मानता है, उन्हें ‘अप्राकृतिक अपराध’ कहा जाता है, और यह 10 साल की जेल की अवधि से दंडनीय है