‘गोल्ड’ के प्रमोशन में महानगर पहुंचे अक्षय और मौनी

कोलकाता, समाज्ञा

अक्षय कुमार और मौनी रॉय की फिल्म गोल्डतभी से चर्चा में है जब इसका पहला ट्रेलर रिलीज किया गया था। इसके बाद फिल्म का रोमांटिक गाना नैनो से बांधीरिलीज हुआ और इंटरनेट पर छा गया। गुरुवार को महानगर में गोल्ड फिल्म का प्रमोशन करने और बांग्ला भाषा में नैनो से बांधीगाने को रिलीज करने के लिए अक्षय कुमार और मौनी रॉय पहुंचे। इस दौरान अक्षय कुमार व मौनी रॉय संवाददाताओं से रूबरू हुए। संवाददाताओं द्वारा सवाल आपने हाल में जितने भी फिल्में किए है वह देश को कोई न कोई अच्छा संदेश दिया है, क्या यह किसी से प्रेरित होकर कर रहे है? इस पर उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है, मेरे पिता आर्मी में थे। शायद इसलिए मैं इस तरह की फिल्में ज्यादा करता हूं। मैं बहुत सारी अलगअलग फिल्में कर रहा हूं। मौनी एक बंगाली होकर, बंगाली किरदार निभाना कैसा लगा? इसपर मौनी ने कहा कि मुझे बहुत अच्छा लगा रहा है और काफी ज्यादा उत्साहित भी हूं। आपके लिए आजादी क्या है, एक अभिनेता के तौर पर आप कितना आजाद हैं? इसपर उन्होंने कहा कि हम सभी आजाद है। हर एक इंसान आजाद है। मेरे लिए स्कूल की छुट्टी आजादी थी। स्कूल के समय छुट्टी होने पर खुद को आजाद महसूस करता था। लेकिन अब आजादी सभी चीजों की है। सबसे ज्यादा मेरे बच्चों के लिए आजादी है। जीवन में आत्मनिर्भर होना बहुत बड़ी आजादी है। भारत ने 12 अगस्त, 1948 के दिन स्वर्ण पदक जीत जाता है, स्वर्ण पदक जीते 70 साल हो गए है उसपर क्या कहेंगे? अक्षय ने कहा कि यह पदक स्वतंत्र भारत का पहला स्वर्ण पदक है, तब भारत को स्वतंत्र हुए केवल एक साल ही हुआ था। यह पदक हासिल करने में काफी संघर्ष का सामना करना पड़ा। क्योंकि एक साल पहले ही भारत आजाद हुआ। कितनी सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ा होगा। फाइनल मैच इंग्लैड और भारत के बीच था। इंग्लैड हर तरह से काफी मजबूत स्थिति पर था। उसमें भारत ने मैच को जीता और भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *