अर्जुन बोले- मेरी भी दो बहनें हैं, महिलाओं के लिए सेफ हो इंडस्ट्री

तनुश्री दत्ता- नाना पाटेकर विवाद सनसनीखेज होता जा रहा है. दोनों के बीच का मामला अब राजनीतिक और कानूनी लड़ाई तक पहुंच चुका है. आने वाली फिल्म “नमस्ते इग्लैंड” की वजह से चर्चाओं में चल रहे एक्टर अर्जुन कपूर ने एक बार फिर इस मामले पर बयान दिया है. इससे पहले अर्जुन कपूर ने मामले में पहली बार “आजतक” से बातचीत में अपना पक्ष रखा था.

इंडियन एक्सप्रेस के एक सवाल के जवाब में अर्जुन कपूर ने कहा, “मेरी दो बहनें इंडस्ट्री में हैं. दो बहनें कहीं और काम कर रही हैं. मैं चाहता हूं कि हर महिला सेफ महसूस करे. ऐसा सभी जगह होता है. ये सच्चाई है, लेकिन किसी एक व्यक्ति को साहस करना पड़ेगा और इसके खिलाफ आवाज उठानी पड़ेगी. हमें ये समझना होगा कि पहले सुनना जरूरी है.”

‘2 लोगों ने घर में घुसने की कोशिश की, नाना के लोग कर रहे बदनाम’

उन्होंने कहा, “ये बड़ी समस्या है कि पीड़ित को शायद ही कभी कोई सुनता हो. हम अराजकता शुरू करते हैं और सुनते नहीं हैं. एक लड़की  (तनुश्री दत्ता) ने ऐसी चीज के बारे में बात की है जो कितनी डरावनी है. किसी निर्णय पर पहुंचने से पहले उसे सुनना चाहिए. वो ये डिजर्व करती है. हमें पहले इसे समझना होगा.”

अर्जुन ने यह भी माना कि यौन उत्पीड़न का मुद्दा व्यापक है. पीड़ितों के पक्ष को समझने के लिए गंभीरता की जरूरत है. बताते चलें कि अर्जुन की दो बहनें सोनम कपूर और जाह्नवी कपूर फिल्म इंडस्ट्री में एक्ट्रेस हैं. अंशुला और खुशी बॉलीवुड का हिस्सा नहीं हैं. 

फिल्म इंडस्ट्री दुनिया की सबसे सेफ जगह हो- अर्जुन कपूर

इससे पहले ‘आजतक’ से बात करते हुए अर्जुन ने इस विवाद पर सख्त रवैया दिखाया था. उन्होंने कहा था, ”अगर जो कुछ तनुश्री कह रही हैं वो सच है तो इंडस्ट्री से होने के नाते हम चाहेंगे कि किसी के साथ ऐसा एक्सपीरियंस ना रहे. हमें समानता का माहौल बनाना पड़ेगा. हम चाहते हैं कि फिल्म इंडस्ट्री दुनिया की सबसे सेफ जगह हो.”
वे आगे कहते हैं, ”कामकाज की जगह जरूरी है कि लड़कियां सुरक्षित महसूस करें. ये दुखद है कि तनुश्री का मामला 10 साल बाद सामने आया. उनके साथ जो भी हुआ बुरा हुआ. अगर उनके आरोप सही हैं तो हमें आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है.”

क्या है पूरा मामला?
 

तनुश्री ने नाना पाटेकर पर शूटिंग के दौरान बदतमीजी और छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. उन्होंने 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान नाना पर अपने साथ जोर जबरदस्ती की कोशिश का आरोप लगाया. उन्होंने कहा था, ”नाना पाटेकर जबरन करीब आना चाहते थे, वे शूटिंग के दौरान गाने का हिस्‍सा नहीं थे, बावजूद उन्‍होंने उनके साथ इंटीमेट होने की कोशिश की.

गाने के कोरियेाग्राफर गणेश आचार्य, डायरेक्‍टर राकेश सारंग और प्रोड्यूसर सामी सिद्दीकी सब इस बात से वाकिफ हैं, लेकिन किसी ने कुछ नहीं किया.” तनुश्री ने कहा था नाना हीरोइनों को पीटते थे. इंडस्ट्री में हर किसी को मालूम है कि हीरोइनों को लेकर वो हमेशा से ही ऐसे रहे हैं. इस मामले में गणेश आचार्य का रिएक्शन सामने आ चुका है. गणेश ने नाना को क्लीनचिट दी है. जिसके बाद तनुश्री ने गणेश को झूठा और दोगला कहा.

तनुश्री ने निर्देशक विवेक अग्निहोत्री पर भी आरोप लगाया था. तनुश्री के मुताबिक विवेक ने उन्हें कपड़े उतारकर नाचने को कहा था. 

तनुश्री के आरोपों पर क्या बोले थे नाना?

अपने ऊपर लगे संगीन आरोपों पर नाना पाटेकर और विवेक ने सफाई दी थी. दोनों ने एक्ट्रेस को कानूनी नोटिस भी भेजा है. नाना ने आरोपों से इंकार करते हुए कहा था, “उनका सेक्सुअल हैरेसमेंट से क्या मतलब है? वहां पर 50 से 100 लोग सेट पर मेरे साथ थे. मैं देखता हूं कि कानूनी रूप से मैं क्या कर सकता.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *