Breaking News
Home / News / India / Assam / भारी बारिश की वजह से असम में बाढ़ के हालात बेहत खराब, 14 ट्रेनें फंसी, 20 रद्द

भारी बारिश की वजह से असम में बाढ़ के हालात बेहत खराब, 14 ट्रेनें फंसी, 20 रद्द

गुवाहाटी: भारी बारिश की वजह से पूर्वोत्तर के राज्यों में ख़ास कर असम में हालात बेहद ख़राब हैं. असम में हालात सबसे ज़्यादा ख़राब हैं. क़रीब 23 लाख लोग प्रभावित हैं. करीब दो लाख लोग विस्थापित होकर राहत शिविरों में रह रहे हैं. पिछले 24 घंटों में कोकराझाड़ में 6 समेत कुल 9 लोगों की मौत हो गई है. असम के कई इलाक़ों का भारत के दूसरे हिस्सों से रेल संपर्क टूट गया है. 14 ट्रेनें अब भी जहां-तहां फंसी हुई हैं, जबकि 20 ट्रेनें रद्द हैं.

ब्रह्मपुत्र और दूसरी नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. पानी के तेज़ बहाव में नेशनल हाइवे 37 बह गया है, जिससे ऊपरी असम के इलाक़े का राज्य के दूसरे इलाक़ों से संपर्क कट गया है. काज़ीरंगा नेशनल पार्क का 80 फ़ीसदी हिस्सा डूब गया है. सेना राहत और बचाव कार्य में जुटी है. जबकि एयरफ़ोर्स को स्टैंडबाई पर रखा गया है.

उल्लेखनीय है कि पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ का कहर जारी है. असम और त्रिपुरा में लाखों लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. यहां कई लोग जान गंवा चुके हैं और हजारों परिवार बेघर हो गए हैं. असम में बाढ़ की स्थिति और भी खराब हो गई और वहां पांच लोगों के मारे जाने की खबर है जबकि त्रिपुरा के तीन जिलों में अचानक बाढ़ आने से कम से कम 4,500 परिवार बेघर हो गए हैं. असम राज्य आपदा मोचन बल (एएसडीएमए) के अनुसार धेमाजी में दो लोगों की मौत हो गई जबकि लखीमपुर, कोकराझार और मोरिगांव में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई. इन मौतों के बाद राज्य में इस साल बाढ़ की वजह से मरनेवालों की संख्या 89 तक पहुंच गई है.

बता दें कि रविवार को डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस (12423), डिब्रूगढ़-चेन्नई एक्सप्रेस (15930), डिब्रूगढ़-दिल्ली ब्रह्मपुत्र मेल (14055) और गुवाहाटी-पुरी एक्सप्रेस (15640) सहित कुल 20 मेल, एक्सप्रेस और अन्य पैसेंजर ट्रेनें रद्द कर दी गईं. रद्द होने वाली अन्य रेलगाड़ियों में गुवाहाटी-सियालदाह कंचनजंगा एक्सप्रेस (15658), न्यू जलपाईगुड़ी सियालदाह दार्जिलिंग मेल (12344), अलीपुरद्वार जंक्शन-दिल्ली सिक्किम महानंदा एक्सप्रेस (ए15483), न्यू कूचबिहार-सियालदाह उत्तर बंग एक्सप्रेस (13148), गुवाहाटी-हावड़ा सरायघाट एक्सप्रेस (12346), अलीपुरद्वार जंक्शन-सियालदाह कंचन कन्या एक्सप्रेस (13150) और न्यू अलीपुरद्वार-सियालदाह तीस्ता टोरसा एक्सप्रेस (13142) शामिल हैं. 

अलीपुरद्वार और कटिहार मंडलों में कई नदियों का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के अधिकारियों ने कहा है कि वे हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं.

About Samagya

Check Also

माँ ममता: आगामी पूजा के लिए दीदी ममता बनर्जी के रूप में बंगाल मंडल दुर्गा को डिजाइन

Share this on WhatsAppआगामी मेगा बोनान्जा के लिए देवी दुर्गा की एक मूर्ति बंगाल के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *