Breaking News
Home / News / जीएमसीसी ने बुलाई आपात बैठक

जीएमसीसी ने बुलाई आपात बैठक

-अगले कदम पर चर्चा के लिए

दार्जिलिंग : अलग गोरखालैंड की मांग के समर्थन में लगातार पहाड़ बंद के बावजूद राज्य व केंद्र सरकार की अनदेखी के मद्देनजर गोजमुमो ने अब आंदोलन की गति-दिशा बदलने का निर्णय लिया है। शनिवार को अनिश्‍चितकालीन पहाड़ बंद  59 वें दिन भी जारी रहा। इस बीच अगले कदम पर विचार विमर्श करने के लिए गोरखालैंड मूवमेंट कॉर्डिनेशन कमेटी (जीएमसीसी) ने सभी पाटिर्रों की एक आपात बैठक बुलाई है। जीएमसीसी के सदस्र ने कहा कि जैसे कि हड़ताल 59वें दिन में प्रवेश कर गया है, हमने आगे की कार्रवाई परविचार विमर्श करने के लिए एक आपात बैठक बुलाई है।

कलिम्पोंग में बैठक : गोजमुमो के एक नेता ने कहा कि बैठक कालिम्पोंग में होगी। जीएमसीसी में 30 सदस्र हैं जिनमें गोजमुमोम, जीएनएलएफ, जन आंदोलन पार्टी और भारतीर गोरखा परिसंघ सहित क्षेत्र की सभी पार्टिरां शामिल हैं। गोजमुमो के सदस्र जीएमसीसी की अगुआई कर रहे हैं। लंबे समर से चल रही हड़ताल को जारी रखने के मुद्दे पर अब गोजमुमो और अन्र पार्टिरों के बीच गहरा मतभेद हो गरा है। जेएपी सहित कुछ पार्टिरां अनिश्‍चितकालीन हड़ताल को वापस लेने के पक्ष में हैं। इस बीच शनिवार को यहां किसी अप्रिर घटना की सूचना नहीं है, लेकिन हालात तनावपूर्ण हैं। शुक्रवार रात से हिंसा की कोई रिपेार्ट नहीं है, लेकिन पुलिस और सुरक्षाबल के जवानों ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं और किसी भी अप्रिर घटना से बचने के लिए सख्त निगरानी बनाए हुए हैं। इस बीच गोजमुमो ने 18 जून से बंद इंटरनेट सेवा को बहाल करने और पुलिस को तत्काल हटाने की मांग को लेकर रैली निकाली। हड़ताल से खाद्य पदार्थों की आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित हुई है। गोजमुमो के कार्रकर्ता-एनजीओ के सदस्य लोगों के बीच खाद्य पदार्थ बांटते दिखाई दिए। दवा की दुकानों को छोड़ कर शेष दुकानें, स्कूल और कालेज बंद चल रहे हैं।

About Samagya

Check Also

विश्व प्रतिभा रैंकिंग में भारत 51वें स्थान पर

Share this on WhatsApp नयी दिल्ली, प्रतिभाओं को आकर्षित, विकसित और उन्हें अपने यहां बनाए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *