चाहिए स्‍ट्रॉन्‍ग बॉडी और खूबसूरत स्किन?, तो गर्मियों में रोज पीएं ये देसी ड्रिंक

गर्मी के दिनों में सत्तू का सेवन कई स्थानों पर किया जाता है। खास तौर से यूपी व बिहार में सत्तू काफी प्रसिद्ध है। यह सिर्फ स्‍वाद में अच्‍छा नहीं होता बल्‍कि यह सेहत के लिये भी काफी अच्‍छा माना जाता है। इसमें ढेर सारा फाइबर भी होता है जो कि पेट की आंत के लिये अच्‍छा माना जाता है। यह मधुमेह रोगियों के लिये भी अच्‍छा है। इसे पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है और गर्मी में शरीर ठंडा रहता है। गर्मी के दिनों में सत्तू का सेवन करना आपको गर्मी के दुष्प्रभाव एवं लू की चपेट से बचाता है। सत्तू का प्रयोग करने से लू लगने का खतरा कम होता है क्योंकि यह शरीर में ठंडक पैदा करता है।

गर्मियों में हाइड्रेट रहने के लिए चने के सत्तू से बना हुआ एनर्जी ड्रिंक फायदेमंद होता है। यह सिर्फ पानी की कमी को पूरा नहीं करेगा। बल्कि दिनभर एनर्जेटिक भी रखेगा। इससे प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर और मैग्निशियम भी मिलेगा प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

नहीं बढ़ने देता है वजन

चिकनाई निकलाता है अगर आप ऑबेसिटी के बारे में सोच रहे है या डाइजेशन की समस्या से परेशान है, तो सत्तू शर्बत का एक ग्लास या सत्तू से बनी रोटी का सेवन आपको हेल्दी बनाए रखेगा। साथ ही आपको ये बात जानकार आश्‍चर्य होगा कि सत्तू शरीर की अतिरिक्त चिकनाई निकालने का भी बेहतर तरीका है। ये मांसपेशियों का विकास करता है और उन्हें सुदृढ़ बनाता है। बच्चों को भी रोजाना दो चम्मच सत्तू देने की सलाह दी जाती है।

लू से बचाएं

लू और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए सत्तू सबसे बेहतरीन उपाय है। एक गिलास ठंडा सत्तू ड्रिंक आपके पाचन को ठीक रखता है और पेट को भीतर से ठंडक पहुंचाता है। यह गर्मी के लिए बहुत ही हेल्‍दी और टेस्‍टी ड्रिंक है।

प्रेगनेंसी में भी फायदेमंद

प्रेग्नेंसी दौरान और माहवारी के दिनों में महिलाओं में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। इसमें मौजूद प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर और मैग्निशियम भी मिलेगा प्रचुर मात्रा महिलाओं के शरीर में एनर्जी बनाएं रखती है। इसके अलावा सत्‍तू में रक्‍तसाफ करने का गुण होता है, जिससे खून की गड़बडि़या दूर होती हैं।

ग्लोइंग स्किन

अगर आपकी त्वचा रूखी सूखी और अस्वस्थ्य रहती है तो हर रोज सत्तू ड्रिंक पीने से आपकी त्वचा हाइड्रेट रहती है और नई कोशिकाओं को बनने में भी मदद मिलती है।

कब्‍ज एसिडिटी से दिलाए राहत

उम्र के साथ व्यक्ति को कई समस्याएं घेर लेती हैं जिनमें खराब पाचन, पेट फूलना, कब्ज, एसिडिटी और दिल से जुड़ी कई बीमारियां हो जाती हैं इनमें सत्तू काफी लाभदायक होता है।

डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर

सत्तू शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखता है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को सत्तू को पानी में घोलकर उसमें नमक डालकर लेने की सलाह दी जाती है।

बॉडी बिल्डिंग के लिए

सत्‍तू सिर्फ गर्मियों से ही थकान नहीं मिटाता है, बल्कि ये बॉडी बिल्डिंग के लिए बहुत फायदेमंद है। यह भूने हुए चने की दाल के पाउडर से बनाकर ये ड्रिंक तैयार किया जाता है। 60 ग्राम के यानी 4 चम्‍मच सत्‍तू के पाउडर में 19 ग्राम प्रोटीन होता है। इसमें अमीनो एसिड होता है, इसके अलावा इसमें फाइबर और कार्ब्‍स भी मौजूद होता है। जो कि जिम के बाद एनर्जी और प्रोटीन ड्रिंक की तरह काम करता है।

बालों के लिए

पोषक तत्वों की कमी की वजह से हेयर फॉल और ग्रे हेयर जैसी कई समस्याएं हो जाती हैं। हमारे शरीर की ही तरह हमारे बालों को भी पोषक तत्वों का आवश्यकता होती है और सत्तू में मौजूद प्रोटीन, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट इस कमी को पूरा कर देते हैं।

सत्‍तू की रेसिपी

सामग्री :सत्तू का आटा एक छोटी कटोरी, आधा चम्मच भूना एवं पिसा जीरा, नमक स्वादानुसार और ठंडा पानी।

विधि :उचित मात्रा में पिसा जीरा व नमक ठंडे पानी में डालकर अच्छी तरह हिलाएं। फिर इसी पानी में सत्तू घोलें। इसे अपनी इच्छानुसार पतला या गाढ़ा रखें। अब पौष्टिक नमकीन सत्तू खाने के लिए तैयार है। आप चाहे तो नमक की जगह शक्‍कर का उपयोग कर मीठा सत्‍तू भी खा सकते है। इसका सेवन गर्मियों के दिनों में किया जाता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ यूटूय्बफेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस  पर जुड़ें और पढते रहें Samagya epaper.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *