Breaking News
Home / Entertainment / Bollywood / प्रेम कहानी नहीं जिंदगी की कहानी है “मेरी प्यारी बिंदू”

प्रेम कहानी नहीं जिंदगी की कहानी है “मेरी प्यारी बिंदू”

फिल्म का नाम : मेरी प्यारी बिंदू

डायरेक्टर : अक्षय रॉय
स्टार कास्ट : परिणीति चोपड़ा, आयुष्मान खुराना, अपराजिता ऑडी, रजतभा दत्ता
अवधि : 1 घंटा 59 मिनट
रेटिंग: 3/5 स्टार

कहानी 
रोमांटिक कॉमिडी ‘मेरी प्यारी बिंदु’ हॉरर नॉवेल लिखने वाले राइटर अभिमन्यु रॉय (आयुष्मान खुराना) और बचपन से सिंगर बनने की चाहत रखने वाली बिंदु शंकरनारायणन (परिणीति चोपड़ा) की प्रेम कहानी है, जो कि अस्सी के दशक में शुरू होकर तमाम खट्टे-मीठे मोड़ लेती हुई मौजूदा दौर तक जारी रहती है। सीधे-सादे अभिमन्यु और अपनी धुन में मस्त रहने वाली चुलबुली बिंदु की प्रेम कहानी पर सवार होकर फिल्म की कहानी कोलकाता से शुरू होकर ऑस्ट्रेलिया, मुंबई, पेरिस और बेंगलुरु जाती है और आखिरकार कोलकाता लौट आती है। जहां फिल्म के दौरान बार-बार मिलते-बिछड़ते प्रेमियों का आखिरकार जुदा अंदाज में मिलन होता है।

डायरेक्टर के तौर पर अक्षय रॉय की यह पहली फिल्म है। फिल्म में लीड कपल आयुष्मान खुराना और परिणीति चोपड़ा हैं जिनकी पिछली फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास बिजनेस नहीं कर पाई थीं। ये फिल्म डायरेक्शन से लेकर एक्टर्स तक सभी के लिए खास है। आइए जानें, फिल्म कैसी बनी है और क्या है इसे देखनेवालों की राय :- 

 

बजरंग लाटा ने बताया कि परिणिती चोपड़ा और आयुष्मान खुराना ने बहुत अच्छी और नेचुरल एक्टिंग की है जो फोर्स्ड नहीं लगती है। वहीं बाकी सह कलाकारों की कास्टिंग भी बेहतरीन है। फिल्म का डायरेक्शन बहुत ही अच्छा है।

ने बताया कि फिल्म की कहानी में आपको नब्बे के दशक की फीलिंग के साथ-साथ हंसी मजाक और इमोशनल पल भी आते हैं।

यश सक्सेना ने बताया कि फिल्म में गानों को बड़े ही अच्छे ढंग से पिरोया गया है. हारेया, ये जवानी जैसे गाने स्क्रीन पर और भी अच्छे लगते हैं। वहीं बैकग्राउंड में म्यूज़िक के साथ-साथ हिंदी और बंगाली लिरिक्स को बखूबी सजाया गया है। फिल्म में किशोर कुमार, रफ़ी साहब, लता मंगेश्कर, आर डी बर्मन के गानों को भी बेहतरीन तरीके से फिल्म का हिस्सा बनाया गया है।

सुलग्ना देबनाथ को यह फिल्म बहुत अच्छी लगी बेशक आज के दौर में अभिमन्यु रॉय जैसे आशिक कम ही होते हैं, जो अपने पहले प्यार को भुला नहीं पाते।  अभिमन्यु  का एक डायलॉग बहुत पसंद आया कि प्यार करना सब सिखाते हैं, लेकिन भूलना कोई नहीं।

शुभोदीप ने बताया कि आयुष्मान व परिणिती की जोड़ी बहुत अच्छी लगी। फिल्म में बिग बॉस एलिमिनेशन, टीवी का एंटेना, आडियो कैसेट, टेलीफोन की मिस्ड कॉल जैसे कई दिलचस्प पल आते हैं।  आयुष्मान के अभिनय में बदलाव आया है जो बहुत पसंद आया।

 

 

About Samagya

Check Also

कंगना रनौट का ओपन लेटर में ऐलान, ‘अगर सैफ अली खान सही होते, तो मैं किसान होती

Share this on WhatsAppआईफा अवॉर्ड्स के मंच पर एक मजाक से शुरू हुई ‘भाई-भतीजावाद’ की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *