मैड-डी बाबू ही ‘भ्रष्टाचार के मास्टर’ : ममता

-आरोप, चुनाव में ‘चायवाला’ बाद में ‘राफेलवाला’
-कहा, पीएम के बारे में बात करने पर होती शर्मिंदगी

कोलकाता : लोकसभा चुनाव के पहले भाजपा ने पश्चिम बंगाल को उर्वर राजनीतिक भूमि समझ कर यहां से 22-23 सीटें जीतने के लिए नेताओं के दौरे की झड़ी लगा दी है, वहीं मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी भी अपने पुराने तेवर में आते हुए भाजपा पर लगातार हमलावर होती जा रहीं हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जलपाईगुड़ी में रैली के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन पर तीखा हमला किया। उन्होंने पीएम मोदी को मैड-डी बाबू तक कह डाला। ममता ने कहा कि पीएम मोदी चुनाव के दौरान ‘चायवाला’ बन जाते हैं जबकि चुनाव के बाद ‘राफेलवाला’ बन जाते हैं। कोलकाता पुलिस बनाम सीबीआई के बाद केंद्र की मोदी और बंगाल सरकार का एक-दूसरे पर हमला जारी है। जहां पीएम मोदी ने जलपाईगुड़ी में ममता बनर्जी पर चिटफंड घोटाले मामले में सबूत मिटाने के आरोपी कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का संरक्षण करने को लेकर निशाना साधा, वहीं ममता ने पलटवार करते हुए कहा कि चुनाव के दौरान वह (पीएम मोदी) ‘चायवाला’ बन जाते हैं और चुनाव के बाद वह ‘राफेलवाला’ बन जाते हैं। ममता ने कहा कि इस व्यक्ति(पीएम) के बारे में बात करने में शर्मिंदगी महसूस होती है। उनकी भर्त्सना करने की इच्छा होती है। मोटी पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा कि सच तो यह है कि ‘मैड-डी बाबू ही भ्रष्टार के मास्टर’ हैं।

शमिर्ंदगी होती है : मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा उन्हें इस व्यक्ति (पीएम) के बारे में बातचीत करने में भी शर्मिंदगी महसूस होती है। उन्होंने कहा कि सर्किट बेंच के उद्घाटन के मौके पर कोलकाता हाई कोर्ट का वहां पर कोई मौजूद नहीं था जबकि सारे इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए सरकार ने 300 करोड़ रुपए खर्ज की। जमीन हमारी है। खंडपीठ हाई कोर्ट की है, लेकिन वहां से कोई मौजूद नहीं था। यह तो बिल्कुल वैसा ही है जैसे दूल्हा-दूल्हन वहां थी ही नहीं लेकिन बैंड पार्टी वहां मौजूद थी।

राफेल-नोटबंदी के मास्टर : मुख्यमंत्री ने कहा कि आरबीआई से लेकर सीबीआई तक क्यों सभी उन्हें (पीएम) बाय-बाय कर रहे हैं? ममता ने कहा कि वह भारत को नहीं जानते। वह गोधरा और अन्य विवादों के बाद यहां पहुंचे थे। वह राफेल के मास्टर हैं, वह नोटबंदी के भी मास्टर हैं। वह भ्रष्टाचार के मास्टर हैं। उन्हें बहुत घमंड है। ममता ने यह भी कहा कि हम(विपक्ष) साथ काम कर रहे हैं इसीलिए वह डरे हुए हैं। 23 दलों के एक साथ होने से वे घबड़ा गए हैं। लेकिन वेकभी नहीं घबराई। उन्होंने हमेशा बाहर निकलने के लिए लड़ाई की। ममता ने कहा कि हमने हमेशा मां, माटी और मानुष की इज्जत की। यह दुर्भाग्य है कि वह पैसे के दम की बदौलत प्रधानमंत्री बन गए।

मैड-डी बाबू : मुख्यमंत्री कहा कि यदि आप हमसे पंगा लोगे तो हम चंगा (मजबूत) होंगे। जब ममता से सवाल किया गया कि आप कहती हैं कि मोदी बाबू झूठ बोल रहे हैं, इसके जवाब में उन्होंने कहा कि उन्होंने उन्हें मोदी बाबू नहीं कहा। उन्हें मैड-डी बाबू कहा था॥ उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि मैड-डी बाबू ही सारे भ्रष्टाचार के मास्टर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *