Breaking News
Home / Astro / Dharam / सनातन धर्म के प्रति आस्थावान बनाये

सनातन धर्म के प्रति आस्थावान बनाये

कोलकाता : हरियाणा नागरिक संघ के सभागार में श्री गोवर्धन मठ, पुरी पीठाधीश्‍वर शंकराचार्य निश्‍चलानंद सरस्वती महाराज के राष्ट्रीय प्रभारी प्रेमचंद्र झा का स्वागत संस्था के सचिव गोरधन निगानियां, सुभाषचंद जैन, विजय निगानियां, बृजमोहन खरकिया एवं कार्यकर्ताओं ने किया। प्रेमचंद्र झा ने शंकराचार्य निश्‍चलानंदजी के व्यक्तित्व, कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए सनातन धर्म के प्रति आस्थावान बनने एवं बच्चों, युवा पीढ़ी को अच्छे संस्कार देने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि  जीवन में नैतिक मूल्यों का महत्व है, गौवंश का संरक्षण नैतिक कर्तव्य है। उन्होंने सनातन धर्म में चार वेद, चार दिशाओं में चार पीठ एवं  उपनिषद तथा धार्मिक ग्रंथों का जिक्र करते हुए कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम  श्रीराम, भगवान श्रीकृष्ण एवं महापुरुषों के आदर्श जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिये। उन्होंने शंकराचार्य निश्‍चलानंदजी के आगामी कोलकाता प्रवास में धार्मिक आयोजनों तथा गंगासागर मेला सेवा शिविर के लिये  सामाजिक संस्थाओं से संगठित रूप से सहयोग, कर्तव्यनिष्ठा से सेवाकार्य करने का अनुरोध किया।  समाजसेवी संजय सांगानेरिया, राधेश्याम सोनी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

About Samagya

Check Also

पश्चिम बंगाल ने ओडिशा से जीती रसगुल्ले की ‘जंग’

Share this on WhatsAppरसगुल्ले की शुरुआत पश्चिम बंगाल में हुई या ओडिशा में इसका फैसला …

6 comments

  1. सनातन धर्म के प्रति आस्थावान बनाये – Samagya
    ctrxpdzk http://www.gh82j154624vfjtnte7c023obb88o1x5s.org/
    [url=http://www.gh82j154624vfjtnte7c023obb88o1x5s.org/]uctrxpdzk[/url]
    actrxpdzk

  2. Excellent post. I used to be checking continuously this blog and I am inspired!
    adidas superstar

  3. Wow! This can be one particular of the most beneficial blogs We have ever arrive across on this subject. Basically Magnificent. I’m also a specialist in this topic so I can understand your effort.
    kobe 10

  4. Greetings here, just turned out to be receptive to your blog page through Google, and discovered that it is quite good. I will be grateful should you carry on this approach.
    yeezy boost

  5. सनातन धर्म के प्रति आस्थावान बनाये – Samagya

  6. Very nice post. I just stumbled upon your blog and wished to say that I’ve truly enjoyed surfing around your blog posts. After all I¡®ll be subscribing to your feed and I hope you write again very soon!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *