मुकुल ने मांगी ‘डबल रक्षा कवच’

-हाईकोर्ट में अग्रीम जमानत अर्जी

राजनाथ से मिल मांगी और सुरक्षा

कोलकाता : नदिया जिले के कृष्णगंज के तृणमूल विधायक सत्यजीत विश्‍वास की हत्या के बाद से भाजपा नेता मुकुल राय पर गिरफ्तारी की तलवार लड़क रही है। लेकिन मुकुल भी हथियार डालने के मूड में नहीं हैं। एक तरफ जहां पुलिस गिरफ्तार 2 आरोपियों से पूछताछ कर हत्या की वजह, हत्यारे व साजिशकर्ताओं तक पहुंचने के लिए हाथ-पांव मार रही है, मुकुल राय ने भी अपनी रक्षा कवच डबल करने की कोशिश शुरू कर दी है। मुकुल ने मंगलवार को एक तरफ जहां हाईकोर्ट में गिरफ्तारी रोकने के लिए अग्रीम जमानत की अर्जी दी वहीं दिल्ली में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर अपनी सुरक्षा और बढ़ाने का भी अनुरोध करते हुए चिठ्ठी दी। मुकुल ने राज्य में अपने उपर हमले की आशंका जताते हुए सिंह से कहा है कि वर्तमान हालात में उन पर कहीं भी हमला हो सकता है।

इससे पहले मंगलवार को मुकुल राय के वकील सुभाशीष दासगुप्त ने हाईकोर्ट में उनकी अग्रीम जमानत अर्जी दायर कर कहा कि न्यायालय में उनके मुवक्किल के खिलाफ 15-16 मामले लंबित हैं। किसी भी मामले में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। विधायक सत्यजीत विश्‍वास की हत्या में उनके खिलाफ राजनीतिक साजिश के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। उनके खिलाफ आरोप लगत हैं। सूत्रों का कहना है कि अर्जी स्वीकार करते हुए न्यायालय ने कहा है कि मामले की सुनवाई न्यायाधीश जयमाल्य बागची व न्यायाधीश अभिजीत गांगुली की खंड पीठ  कर सकती है। वहीं, मुकुल ने मंगलवार की ही दिल्ली में गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर अपनी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की। सिंह को लिखी चिठ्ठी में भाजपा नेता ने दावा किया है कि वर्तमान स्थिति में बंगाल की कानून-व्यवस्था ठीक नहीं है तथा कभी भी उन पर हमला हो सकती है। वे असुरक्षा अनुभव कर रहे हैं। इसीलिए उनकी सुरक्षा और बढ़ाई जाय। मालूम हो कि 9 फरवरी को कृष्णगंज के तृणमूल विधायक सत्यजीत विश्‍वास की हत्या के बाद भाजपा नेता मुकुल राय अन्य 4 आरोपियों पर प्राथमिकी दर्ज हुई है। मामूल हो कि तृणमूल विधायक की सरेआम हत्या की घटना के बाद राज्य प्रशासन सर्तक हो गया है तथा कोलकाता सह जिलों में विधायकों की सुरक्षा बढ़ाई जा रही है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *