समाज्ञा

अगले साल तक खत्‍म कर दिया जाएगा FIPB

New Delhi: Finance Minister Arun Jaitley (C) stands outside his office at North Block holding the briefcase containing the Union budget for 2017 and is flanked by MoS Arjun Meghwal (R) and Santosh Gangwar (L), on Wednesday,in New Delhi. PTI Photo by Vijay Verma(PTI2_1_2017_000008B)

नई दिल्‍ली। अपने बजट भाषण में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने एफआईपीबी को लेकर भी महत्‍वपूर्ण घोषणा की है। उन्‍होंने कहा कि विदेशी निवेश प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) को योजनाबद्ध तरीके से बंद किया जाएगा और इसके लिए संसद में जल्द ही विधेयक लाया जाएगा।

फर्जी निवेश योजनाओं पर चिंता जताते हुए वित्‍त मंत्री ने कहा कि निवेशकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है।

जेटली ने कहा कि अवैध जमा योजनाओं के संकट को कम करने के लिए एफआईपीबी विधेयक को लोगों की जानकारी में लाया जाएगा और इसे अंतिम रूप दिए जाने के बाद ही संसद में पेश किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि ‘स्‍वच्‍छ भारत’ के एजेंडे के रूप में विभिन्‍न हितधारकों के परामर्श से इस अधिनियम में संशोधन किया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि वित्‍तीय क्षेत्र की सत्‍यनिष्‍ठा और स्थि‍रता को सुरक्षित रखने के लिए साइबर सुरक्षा जरूरी है। इसके लिए कंप्‍यूटर इमरजेंसी रिस्‍पॉन्‍स टीम का गठन किया जाएगा।