आर्मी भर्ती पेपर लीक: हिरासत में 350 स्टूडेंट्स, 18 लोग हुए गिरफ्तार, पुणे सर्किल की परीक्षा रद्द

क्राइम ब्रान्च ने पुणे, नागपुर, नासिक और गोवा से शनिवार रात को 350 स्टूडेंट्स और 18 आरोपियों को पेपर लीक के शक में हिरासत में लिया है। जिसके बाद यह जानकारी पुलिस ने आर्मी को दी।

आर्मी रिक्रूटमेंट का एग्जाम का पेपर लीक होने के बाद पूरे पुणे सर्किल के सेंटरों पर विभिन्न पदों के लिए आयोजित परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। आर्मी रिक्रूटमेंट बोर्ड की परीक्षा होने से एक दिन पहले पेपर लीक होने की सूचना मिली थी। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में रविवार को 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। पेपर लीक होने की जानकारी मिलने के बाद ठाणे क्राइम ब्रांच ने महाराष्ट्र और गोवा में छापेमारी की और पुणे, नागपुर, नासिक और गोवा में शनिवार रात को 350 स्टूडेंट्स को हिरासत में लिया गया था। जिन केंद्रो पर परीक्षा रद्द की गई है कि उनमें- नागपुर, अहमदनगर, अहमदाबाद, गोवा, किरके, कैम्पटी शामिल है।

ठाणे क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर नीतिन ठाकरे ने कहा कि छात्रों को कथित तौर पर कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाने वालों द्वारा प्रश्न पत्र दिया गया था। गिरफ्त में आए अभ्यर्थियों को एक लॉज में लीक पेपर की आंसर शीट भरते हुए पाया गया। पुलिस को शक है कि इस अपराध में सेना के कुछ लोग भी शामिल हो सकते हैं। पुलिस के मुताबिक अभ्यर्थियों ने आरोपियों को लीक हुए पेपर के बदले 2 लाख रुपए दिए थे।

इस मामले में जांच जारी है। पेपर लीक होने की जानकारी मिलने के बाद आर्मी को इस संबंध में जानकारी दी गई। वहीं, आर्मी रिक्रूटमेंट बोर्ड ने पेपर लीक होने के बाद पुणे सर्किल के केंद्रों पर आयोजित परीक्षा को रद्द कर दिया। कथित तौर पर आर्मी ने इस मामले में आंतरिक जांच के आदेश भी दिए और आगे की कार्रवाई जांच के निष्कर्ष सामने आने के बाद की जाएगी। रविवार को देशभर के 52 सेंटर्स पर लोवर लेवल, जिनमें सोल्जर क्लर्क, स्ट्रॉन्गमैन, ट्रेडसमैन के पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन किया गया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक छापेमारी के दौरान हैरान करने वाली बात आई है। जानकारी के मुताबिक जिन 18 लोगों को ठाणे पुलिस ने हिरासत लिया था। उनसे 2 लोग आर्मी बैकग्राउंड के हैं। ठाणे पुलिस का कहना कि बिना आर्मी के अधिकारियों की मिली भगत के यह मुमकीन नहीं है। बता दें कि आर्मी का सबसे बड़ा बेस महाराष्ट्र में नागपुर और पुणे में है और गोवा का जो आर्मी बेस है वो गोवा में है। इसलिए पुलिस ने इन 3 जगहों पर छापेमारी की है। छापेमारी के लिए तकरीबन 10-15 टीमें क्राइम ब्रांच ने बनाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *