प्रद्युम्न को उसकी बहन से एक टीचर ने किया था अलगः मां ज्योति ठाकुर

Samagya Reporter :

रयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हुई हत्या के मामले में लगातार कार्रवाई हो रही है लेकिन परिवार इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। वे लगातार सीबाआई से जांच करने के लिए गुहार लगा रहें है।

इसी दौरान स्कूल में हुई हत्या मामले को लेकर एक बार फिर राज्य सरकार ने अपनी मंसा लोगों के सामने रखी है। शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा के बाद अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बड़ा फैसला लिया है। सीएम खट्टर ने कहा है कि रयान स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड को लेकर उसके पिता जिस भी तरह की जांच करवाना चाहते हों, वैसी ही जांच हो। 

पति ने मेन गेट पर छोड़ा था बाई-बहन को

ज्योति ठाकुर ने बताया मेरे पति ने दोनों भाई-बहन को स्कूल के मेन गेट पर एक साथ छोड़ा था, स्कूल के मेन गेट से दोनों भाई-बहन अंदर चले गए थे, लेकिन इसी दौरान किसी ने बेटी से कहा कि बेटा आप अपनी क्लास में जाओ आपकी क्लास इस तरफ नहीं दूसरी तरफ है।

बेटे ने अपनी बहन से कहा कि तुम चली जाओ, मैं भी खुद चला जाऊंगा। बहन के जाने के बाद प्रद्युम्न गैलरी के पास पानी पीने गया। प्रद्युम्न ठाकुर की मां ज्योति ठाकुर ने आगे बताया कि बाथरूम के बीच पता नहीं इस गैलरी में ऐसा क्या हुआ, केवल 15 फीट की जगह में ऐसा क्या हुआ जो कोई नहीं देख पाया।

क्लास के पास ही गैलरी का दरवाजा खुलता है, किसी ने क्यों नहीं देखा। उन्होंने बताया शौचालय के बाहर मेरे बेटे का बैग और बोतल पड़ी थी, उस बोतल पर खून लगा था किसी ने बच्चे से बोलकर खून साफ करा दिया। 

प्रद्युम्न ठाकुर का मां ज्योति ठाकुर ने पूछे 3 बड़े सवाल –

  • मेरे बेट प्रद्युम्न को उसकी बहन से अलग क्यों किया गया?
  • किसी ने भी बच्चे की आवाज क्यों नहीं सुनी?
  • बच्चे से खून क्यों साफ करवाया गया?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *