मुकुल से पूछताछ की अनुमति – कोलकाता

-हाईकोर्ट ने 16 तक रोकी गिरफ्तारी

-नौकरी के नाम पर धोखाधड़ी का आरोप

कोलकाता, समाज्ञा

 रेलवे में नौकरी देने के आरोप में युवाओं संग आर्थिक धोखाधड़ी करने के आरोप में कलकत्ता हाईकोर्ट ने पुलिस को भाजपा नेता मुकुल राय से पूछताछ करने की अनुमति सोमवार को दे दी। हालांकि, हाईकोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया कि 16 मई तक मुकुल राय के खिलाफ कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकेगी। 16 मई को मामले की अगली सुनवाई है। न्यायाधीश शिवकांत प्रसाद ने मुकुल राय द्वारा हाईकोर्ट में दायर अग्रीम जमान की अर्जी की सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया। मुकुल ने बीजपुर थाने में दर्ज प्राथमिकी में नाम शामिल होने के चलते हाईकोर्ट में अग्रीम जमानत की अर्जी हाईकोर्ट में दाखिल की थी। बीजपुर पुलिस ने पहले ही इसी मामले में मुकुल के साला सृजन राय को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। वे 12 दिन की पुलिस हिसारत में हैं।

सोमवार को सुनवाई के दौरान मुकुल के वकील सुमित राय चौधरी ने दलील दी कि यह मामला राजनीतिक उद्देश्य की पूर्ति के लिए किया गया है। जवाब में सरकारी वकील ने कहा कि जांच प्राथमिक चरण में है तथा मुकुल राय से पूछताछ की जरुरत है। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद न्यायाधीश शिवकांत प्रसाद ने कहा कि जांच की लिए पूछताछ की जा सकती है। लेकिन कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकेगी। मालूम हो कि कांचरापाड़ा कोच फैक्ट्री में नौकरी देने के नाम पर मुकुल के साला सृजन राय ने कई युवाओं से लाखों रुपए की धोखाधड़ी की थी। सृजन के खिलाफ बीजपुर थाने में 9 शिकायतें दर्ज की गई?थी जिसमें मुकुल राय का नाम भी शामिल है। माना जा रहा है कि साला की गिरफ्तारी के बाद चिंतित मुकुल संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए ही हाईकोर्ट पहुंचे थे। हाईकोर्ट द्वारा 16 मई तक गिरफ्तारी पर रोक लगाने से मुकुल का तत्कालीक राहत मिलने की बात कही जा रही है। हालांकि, एक ही मामले में एक व्यक्ति(मुकुल का साला) की गिरफ्तारी होने से मामला पेचीदा हो गया है। माना जा रहा है कि पुलिस पंचायत चुनाव के बाद मुकुल के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *