समाज्ञा

पुलिस बुलाने की धमकी पर डरे 12 वर्षीय छात्र ने स्वयं को लगायी आग

छिंदवाड़ा :मप्र: नौ सितम्बर, समाज्ञा : शरारत करने पर शहर के एक निजी स्कूल के शिक्षक और प्राचार्य द्वारा माता-पिता और पुलिस को बुलाने की धमकी दिये जाने के बाद 12 वर्षीय एक छात्र ने कथित तौर पर स्वयं को आग लगा ली। पांचवी कक्षा के इस छात्र को 50 प्रतिशत जली हालत में इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कोतवाली पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक सुमेर सिंह ने आज बताया, ‘‘हमें छात्र के परिजन की शिकायत प्राप्त हुयी है। इस मामले में जांच की जा रही है। छात्र ने शुक्रवार शाम को अपने घर पर यह आत्मघाती कदम उठाया था। छात्र 50 प्रतिशत जल गया है तथा अस्पताल में उसका उपचार चल रहा है।’’ छात्र के पिता ने आरोप लगाया कि कुछ शरारतों के कारण स्कूल के शिक्षक और प्राचार्य ने उनके बेटे को पुलिस और माता-पिता को बुलाने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा, ‘‘कल शाम को स्कूल से लौटने के बाद घर में मेरे पुत्र ने स्वयं पर केरोसिन तेल डालकर आग लगा ली। उसकी शरारत पर स्कूल के शिक्षक और प्राचार्य द्वारा पुलिस और हमें बुलाने की धमकी देने से वह काफी डरा हुआ था।’’ उन्होंने स्कूल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

स्कूल के संचालक मंडल के सदस्य आशीष ताम्रकर ने कहा कि यह दुखद घटना है। उन्होने कहा, ‘‘हमारी पहली प्राथमिकता छात्र को बेहतर इलाज देने की है। यदि जरूरत पड़ी तो उसे नागपुर के अस्पताल ले जाया जा सकता है। स्कूल प्रबंधन इस मामले में जिम्मेदार शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा।’’ इस बीच, जिला शिक्षा अधिकारी आर एस बघेल ने कहा कि इस मामले की जांच की जायेगी। उन्होने कहा, ‘‘हमें घटना के बारे में सूचना प्राप्त हुयी है। यह एक गंभीर मामला है। जांच में दोषी पाये जाने पर स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।’’