एंटी-ABVP कैम्पेन से हटीं शहीद की बेटी, दिल्ली भी छोड़ा; DU में प्रोटेस्ट तेज

नई दिल्ली.बीजेपी की स्टूडेंट विंग ABVP के खिलाफ मुहिम छेड़ने वाली शहीद की बेटी और डीयू (दिल्ली यूनिवर्सिटी) की स्टूडेंट गुरमेहर कौर ने खुद को कैम्पेन से अलग कर लिया है। उन्होंने मंगलवार सुबह ट्वीट कर कहा- “मैं कैम्पेन से अलग हो रही हूं। मैं रिक्वेस्ट करती हूं, मुझे अकेला छोड़ दिया जाए। मुझे जो कहना था, कह दिया। काफी हिम्मत दिखा चुकी हूं।” गुरमेहर दिल्ली छोड़कर जालंधर चली गईं। उधर, पुलिस ने गुरमेहर को मिल रही रेप की धमकी मामले में एफआईआर दर्ज कर ली। मंगलवार को ही डीयू में प्रोटेस्ट निकाला गया। एबीवीपी के खिलाफ हुए इस प्रोटेस्ट में डीयू के अलावा जेएनयू और जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स और प्रोफेसर्स भी शामिल हुए। संसद में भी उठेगा मुद्दा…
– पुलिस ने मंगलवार को गुरमेहर को मिल रही रेप की धमकी मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। साथ ही उन्हें पूरी सिक्युरिटी देने का भरोसा दिलाया।
– उधर, डीयू में लेफ्ट विंग के स्टूडेंट्स यूनियन ने मार्च निकाला। लेकिन गुरमेहर इसमें शामिल नहीं हुईं। खालसा कॉलेज से निकले इस मार्च में सीपीएम चीफ सीताराम येचुरी और सीपीआई नेता डी. राजा भी शामिल हुए। लेफ्ट नेताओं ने कहा कि वे इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे।
– इस बीच अरविंद केजरीवाल ने एलजी अनिल बैजल से मुलाकात की। अरविंद ने कहा कि हमने एलजी से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। अगर सही तरह से जांच हो तो ABVP के सपोर्टर्स अरेस्ट होंगे। देश विरोधी नारे ABVP के लोग ही लगाते हैं। उसके बाद ये ही पहुंच जाते हैं। उस लड़की को पूरी सुरक्षा दी जानी चाहिए।
गुरमेहर​ ने कहा मार्च में नहीं होंगी शामिल
– मंगलवार सुबह गुरमेहर ने ट्वीट करके कहा- “मैं कैम्पेन से अलग हो रही हूं। सभी को बधाई। मैं रिक्वेस्ट करती हूं मुझे अकेला छोड़ दिया जाए। मुझे जो कहना था, कह दिया है। मैंने बहुत कुछ सहा है और 20 साल की उम्र में इतना ही मैं सह सकती थी। यह कैम्पेन मेरे बारे में नहीं, स्टूडेंट्स के बारे में है। प्लीज, बड़ी तादाद में इसमें शिरकत करें, सभी को शुभकामनाएं।”
– अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, “मेरी बहादुरी और हिम्मत पर सवाल उठाने वाले किसी भी शख्स से कहना चाहूंगी, मैं काफी बहादुरी दिखा चुकी हूं। यह तय है कि किसी को भी धमकियां देने या हिंसा का रास्ता अपनाने से पहले अब हम कम से कम दो बार सोचेंगे ज़रूर।”
– इससे पहले सोमवार को गुरमेहर ने यह आरोप भी लगाया कि उन्हें एबीवीपी की ओर से रेप की धमकियां मिल रही हैं। इस मामले में उन्होंने वुमन कमीशन में शिकायत दर्ज कराई है।
– वुमन कमीशन ने बताया कि गुरमेहर अपने परिवार के पास जालंधर जा चुकी हैं।
कहां से शुरू हुई कॉन्ट्रोवर्सी?
– दिल्ली के रामजस कॉलेज में एक सेमिनार होने वाला था। इसमें जेएनयू के स्टूडेंट लीडर उमर खालिद और शहला राशिद को इनवाइट किया गया था। ABVP ने इसका जमकर विरोध किया, क्योंकि खालिद पर जेएनयू में देशविरोधी नारेबाजी करने का आरोप है।
– इसके बाद बीते बुधवार को AISA और ABVP के सपोर्टर्स के बीच भारी हिंसा हुई। कॉलेज एडमिनिस्ट्रेशन को सेमिनार कैंसल करना पड़ा।
कौन हैं गुरमेहर? कॉन्ट्रोवर्सी में कैसे आईं?
– गुरमेहर लेडी श्रीराम कॉलेज में इंग्लिश लिटरेचर की स्टूडेंट हैं। वे मूल रूप से लुधियाना की रहने वाली हैं। पिता कैप्टन मंदीप सिंह कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स के कैम्प पर 1999 में आतंकी हमले में शहीद हो गए थे।
– इस कॉन्ट्रोवर्सी में उनकी एंट्री तब हुई, जब उन्होंने 22 फरवरी को अपना फेसबुक प्रोफाइल पिक्चर बदला और ‘सेव डीयू कैम्पेन’ शुरू किया।
– वे एक तख्ती पकड़ी हुई नजर आईं। #StudentsAgainstABVP हैशटैग के साथ लिखा- “मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ती हूं। ABVP से नहीं डरती। मैं अकेली नहीं हूं। भारत का हर स्टूडेंट मेरे साथ है। ABVP का बेगुनाह स्टूडेंट्स पर किया गया हमला परेशान करने वाला है और इसे रोका जाना चाहिए। यह हमला प्रोटेस्ट कर रहे लोगों पर नहीं था, बल्कि यह डेमोक्रेसी के हर उस विचार पर हमला था।’
– शहीद की बेटी गुरमेहर की यह पोस्ट वायरल हो गई। सोशल मीडिया यूजर्स उनका जबर्दस्त सपोर्ट किया।
– बाद में गुरमेहर ने यह आरोप भी लगाया कि उन्हें एबीवीपी की ओर से रेप की धमकियां मिल रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *