लेखिका से कहा- उम्मी्द करता हूं तुम्हारा रेप हो जाए, शेयर किया चैट का स्क्रीनशॉट

सोशल साइट पर फर्जी पहचान के जरिये डराने-धमकाने की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। नई घटना एक महिला लेखिका से जुड़ा है। एक व्‍यक्ति ने फर्जी नाम से एक महिला लेखिका को फेसबुक मैसेंजर के जरिये मैसेज भेजा जिसमें उसने उसने लिखा, ‘उम्‍मीद करता हूं तुम्‍हारा रेप हो जाए।’ गाय की पूजा करने को लेकर बेहद आपत्तिजनक टिप्‍पणी की गई। लेखिका शेफाली वैद्य ने मैसेज का स्‍क्रीनशॉट साझा करते हुए लिखा कि उन्‍हें हर दिन ऐसे मैसेज आते रहते हैं। शेफाली ने चैट को शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘प्‍यार का एक नमूना जो मुझे हर दिन मिलता रहता है। वे इतने डरपोक हैं कि उनमें इतनी भी हिम्‍मत नहीं है कि अपना नाम और चेहरा इस्‍तेमाल कर सकें। यकीन मानिए टि्वटर पर ‘हिंदू ट्रोल्‍स’ की शिकायत करने वालीं फेमिनिस्‍ट इस पर कभी कुछ भी नहीं बोलेंगी।’ पिछले कुछ दिनों में सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिये डराने-धमकाने और महिलाओं के खिलाफ अवांछनीय टिप्‍पणी करने का सिलसिला बहुत बढ़ गया है। इसे देखते हुए इस पर लगाम लगाने पर भी विचार किया जा रहा है।

शेफाली वैद्य के ट्वीट पर लोगों ने भी प्रतिक्रिया जताई है। गुल पनाग ने ट्वीट किया, ‘यह बेहद घिनौना है। इसकी एकसुर में निंदा की जानी चाहिए। नफरत फैलाने वाले ट्रोल्‍स हमारे सामने अनके रंगों में आते हैं। मेरे साथ तो वर्षों से ऐसा किया जा रहा है। आप इसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराना सुनिश्चित करें।’ पारस घोष ने लिखा, ‘दरअसल, कन्‍वर्ट होने के बाद वे लोग अपना नाम जाहिर करने में शर्म महसूस करते हैं।’ कुलशेखरन ने ट्वीट किया, ‘कृपा करके आप एफआईआर दर्ज कराइए। यह बिल्‍कुल ही अस्‍वीकार्य है।’ जीतू ने लिखा, ‘उसके बाद भी स्‍वरा भास्‍कर जैसे लोग दावा करते हैं कि आपलोग सांप्रदायिक हैं।’ परम कृष्‍णा ने ट्वीट किया, ‘उसे अविलंब जेल में डालने की जरूरत है।’ संदीप यादव ने लिखा, ‘ये लोग जैसे खुद हैं वैसा ही दूसरों को समझते हैं।’ संदीप मीरचंदानी ने ट्वीट किया, ‘यह पूरी तरह अपमानजनक है। यह दिखाता है कि वह किस माहौल में पला-बढ़ा है। दुखद!’

बता दें कि सोशल नेटवर्किंग साइटों से समय-समय पर अवांछित विषय-वस्‍तु को हटाने की हिदायत दी जाती रहती है। हालांकि, सोशल साइटों पर पिछले कुछ महीनों में इस तरह की टिप्‍पणियों की बाढ़ सी आ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *