भारतीय कपड़ों, फैशन की दिलचस्प कहानियां बताएगा गूगल

नयी दिल्ली, आठ जून : संस्कृति की पहचान उसके लोगों के पहनावे से होती है और आप जो कपड़े पहनते हैं उसके पीछे सदियों पुरानी कहानी है जिससे आप अभी तक अनजान हो सकते हैं। अब गूगल आपको एक वचरुअल प्रदर्शनी में ले जाएगा जहां लोग हजारों साल पुराने वस्त्रों का इतिहास जान पाएंगे।

गूगल के ‘वी वीयर कल्चर’ प्रोजेक्ट में लोग प्राचीन रेशम मार्ग से 3,000 साल पहले के कपड़ों से लेकर अब तक भारतीय साड़ी की बेजोड़ सुंदरता के इतिहास के बारे में जानेंगे। गूगल इस प्रोजेक्ट के लिए भारत समेत दुनियाभर के 183 प्रसिद्ध सांस्कृतिक संस्थानों के साथ मिलकर काम रहा है।

गूगल कला एवं संस्कृति निदेशक अमित सूद ने कहा, ‘‘आप यह जानकर हैरान हो सकते हैं कि आपके वार्डरोब में साड़ी, जींस या ब्लैक ड्रेस की सदियों पुरानी कहानी है। आप जो पहनते हैं वह असली संस्कृति है और कला के एक नमूने से ज्यादा है।’’ कंपनी ने कहा कि इस ऑनलाइन प्रोजेक्ट में छत्रपति शिवाजी महाराज वास्तु संग्रहालय और घाचरेला से लेकर पटोला, टेंपल, इकत साड़ी तक भारत के विविध कपड़ों के कलेक्शन हैं।

दुनिया के फैशन की दुनिया में ले जाने वाली इस प्रदर्शनी में पूर्वोत्तर भारत के परिधान भी दिखाए जाएंगे जिसमें नगा, मेतेई जैसे आदिवासियों की पोशाक और खासी महिलाओं द्वारा पहनी जाने वाली मेघालय की पारंपरिक पोशाक ‘धारा’ या ‘नारा’ शामिल हैं।

कंपनी ने कहा, ‘‘इस प्रदर्शनी के हिस्से के तौर पर सालार जंग संग्रहालय की प्रदर्शनी में यह बताया जाएगा कि हैदराबाद में 19वीं सदी से शेरवानी कैसे निजामों के शाही फैशन का हिस्सा बनी।’’ फैशन और कपड़ों के प्रति दीवानगी रखने वाले लोग दुनिया के फैशन पर कुल 50,000 तस्वीरें, वीडियो और अन्य दस्तावेज वाली 400 ऑनलाइन प्रदर्शनी देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *