रितिक की जगह शाहरुख को लिया तो मोदी सरकार ने रोका सरकारी कैंपेन?

नई दिल्ली
बॉलीवुड सुपर स्टार शाहरुख खान को लेकर नैशनल फिल्म डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन (NFDC) की ओर से तैयार किए एक जागरूकता अभियान को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रोक दिया है। मंत्रालय का कहना है कि कैंपेन से जुड़े विडियोज उसकी ‘मंजूरी’ के बिना शूट किए गए।

हेल्थ मिनिस्ट्री के एक अफसर ने बताया, ‘एनएफडीसी ने आंखों की बीमारियों को लेकर जागरूकता फैलाने के मकसद से एक कैंपेन के प्रस्ताव पर चर्चा की थी। उन्होंने हमें बताया था कि वे इस अभियान में एक सिलेब्रिटी को जोड़ेंगे। हालांकि, शाहरुख या किसी सिलेब्रिटी को जोड़ने को लेकर कोई अप्रूवल नहीं लिया गया। विडियो हमारी मंजूरी के बिना ही शूट कर लिए गए।’

एक अन्य अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि एनएफडीसी ने इस प्रस्ताव पर मंत्रालय के साथ चर्चा की थी और वे यह प्रॉजेक्ट रितिक रोशन के साथ करना चाहते थे। रितिक ने हाल ही में काबिल फिल्म में अंधे शख्स की भूमिका निभाई थी। अधिकारी ने बताया, ‘इस बात में दम था कि काबिल एक ऐसी फिल्म थी जो अंधेपन से जुड़ी हुई थी और आंखों की हिफाजत से जुड़े कैंपेन को इससे जोड़कर देखा जाए। शाहरुख को लेकर किसी कैंपेन पर कोई चर्चा नहीं हुई।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *