समाज्ञा

जअश्ता देवी मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़

File Photo

जम्मू, 17 मई : कश्मीर में शांति की खातिर और सामान्य हालात बनाने के लिए श्रीनगर के माता जअश्ता देवी मंदिर में किए जा रहे सालाना ‘महायज्ञ’ में शामिल होने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से कश्मीरी पंडितों की भीड़ उमड़ी।

शंकराचार्य पर्वत और जबरवान पहाड़ों के बीच तथा प्रसिद्ध डल झील के सामने स्थित माता जअश्ता देवी मंदिर गर्मियों में घाटी में आने वाले विस्थापित कश्मीरी पंडितों के लिए ‘‘शरणस्थली’’ बन गया है।

महायज्ञ का आयोजन जअश्ता देवी प्रबंधक समिति ने मंदिर में प्रार्थनाओं के उच्चारण के बीच किया।

समिति के अध्यक्ष बी बी भट ने कहा, ‘‘कश्मीर में बने हालात के चलते हमें उम्मीद नहीं थी कि इस वर्ष इतनी बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां आएंगे। लेकिन देश के विभिन्न हिस्सों से करीब 300 कश्मीरी पंडित मंदिर में आए।’’