विरासत में मिली समस्याओं को दूर करने में लगेगा समय : ममता

निवेश के लिए बंगाल तीसरा पसंदीदा जगह

राज्य में फुटबाल विकास केंद्र लगाने का प्रस्ताव

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य ने कारोबार सुगमता के संदर्भ में बेहतर काम किया है, लेकिन पिछली वाम सरकार से विरासत में मिली कुछ चुनौतियों को दूर करने में और समय लगेगा। मुख्यमंत्री होरासिस एशिया की बैठक को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने इस मौके पर राज्य के निवेश के लिए सबसे तरजीही होने का हवाला देते हुए विदेशों में रह रहे लोगों से पश्‍चिम बंगाल में निवेश की अपील की।  सीएम ने कहा कि बंगाल में निवेश के लिए उपयुक्त माहौल है। उन्होंने कहा कि पहले बंगाल निवेश की श्रेणी में 50वें स्थान से भी नीचे थे लेकिन बिगत कुछ सालों के सुधार का ही नतीजा है कि आज निवेश के लिहाज से पश्‍चिम बंगाल तीसरा सबसे पसंदीदा जगह बन गया है। राज्य अब कारोबार सुगमता के मामले में देश में तीसरे स्थान पर है। होरासीस शिल्प सम्मेलन को संबोधित करते हुए विरोधियों की तरफ से यह अफवाह उड़ायी जा रही है कि राज्य से बड़े उद्योगों का पलायन हो रहा है। अगर ऐसे कोई भी आंकड़े को विपक्ष जनता के सामने रख दे तो सरकार सत्ता छोड़ देगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वाम सरकार के जमाने में राज्य में बिजली परिसेवा की स्थिति काफी खराब थी। हालांकि उसकी तुलना में विद्युत परिसेवा की कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा, पिछले 34 सालों के वाम सरकार द्वारा विरासत में कुछ समस्याएं मिली हैं जिन्हें दूर करने में समय लगेगा। अमेरिका, यूरोप एवं एशिया के 300 प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य रणनीतिक, राजनीतिक और भौगोलिक तौर पर सुरक्षित और समृद्ध है। उन्होंने कहा, राज्य में सब कुछ है और हमें अब बस आपकी जरूरत है। उन्होंने कहा कि राज्य में भौतिक और सामाजिक ढांचा सुधर रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में कार्य संस्कृति भी काफी बेहतर हुई है। बनर्जी ने 16 और 17 जनवरी को आयोजित हो रहे बंगाल वैकि कारोबार सम्मेलन में भाग लेने की भी उपस्थित प्रतिनिधियों से अपील की। इस दौरान ब्राजील-चीन चेंबर ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन चार्ल्स तांग ने राज्य में फुटबॉल विकास केंद्र लगाने का प्रस्ताव दिया जिसे बनर्जी ने सहर्ष स्वीकार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *