लालू परिवार की मुसीबतें बढ़ी ,ED ने सीज़ किया माल

पटना : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री तथा आरजीडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. लालू यादव चारा घोटाले में पहले से ही जेल की सजा काट रहे हैं. अब प्रवर्तन निदेशालय ने पटना में उनके परिवार के मॉल को सीज कर दिया है. आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव इस मॉल की जमीन को रेलवे के दो होटलों को लीज पर दिए जाने के एवज में लिया था.

पटना के दानापुर में बन रहे इस मॉल पर पर्यावरण मंत्रालय पहले ही रोक लगा चुका है. तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी के नाम यह मॉल है. करीब 115 कट्ठा (करीब 6 बीघा) जमीन पर 750 करोड़ की लागत बहुमंजिला मॉल बनाया जा रहा था.

आज ईडी द्वारा जब्त की गई जमीन की कीमत 44.75 करोड़ रुपये बताई जा रही है. आईआरसीटीसी होटल धनशोधन मामले में 44.75 करोड़ रुपए कीमत की 11 जमीनें जब्त की. ईडी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद के परिवार से जुड़ी एक कंपनी के नाम पर इन जमीनों को कुर्क किया था.

हाल में धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) से जुड़े मामलों की सुनवाई करने वाले एक प्राधिकारी ने ईडी को जब्त संपत्तियां अपने कब्जे में लेने की इजाजत दी थी. पटना के दानापुर इलाके में करीब तीन एकड़ क्षेत्रफल में एक-दूसरे से सटी हुई इन जमीनों पर एक बड़ा नोटिस बोर्ड लगाया गया और कब्जे के दस्तावेजों को अधिसूचित किया गया. नोटिस बोर्ड पर दिल्ली जोनल ऑफिस-1 के सहायक निदेशक के दस्तखत हैं.

                                          बताया जा रहा है कि पटना में बन रहा यह मॉल बिहार का सबसे बड़ा मॉल था

यह जमीनें डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड (अब लारा प्रोजेक्ट्स एलएलपी), जिसके प्रबंध साझेदार लालू की पत्नी राबड़ी देवी और साझेदारों के रूप में तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव एवं राजद के विधायक अबु दुजाना की कंपनी मेरीडियन कंस्ट्रक्शन इंडिया लिमिटेड के नाम पर हैं. आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव ने रांची और पुरी में रेलवे के दो होटलों में लीज पर देने के एवज में यादव ने इस जमीन की रजिस्ट्री अपने परिवार के नाम कराई थी. इस मॉल के निर्माण में मिट्टी घोटाले का आरोप भी लालू परिवार पर लगा था.

सुशील मोदी ने खोली थी पोल
सुशील मोदी ने आरोप लगाया था कि बिहार सरकार में तत्कालीन जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने 2008 में तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद पर आरोप लगाया था कि रेलवे के रांची और पुरी के दो होटलों को होटल सुजाता के हर्ष कोचर को गलत तरीके से बेच दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *