जाधव के दोस्तों ने पटाखे छोड़कर आईसीजे के फैसले का स्वागत किया

मुंबई, 18 मई : पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगाने के अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए उनके दोस्तों एवं शुभचिंतकों ने आज पटाखे छोड़कर जश्न मनाया।

जाधव के दोस्तों ने लोअर परेल इलाके में और उनके पड़ोसियों ने पवई इलाके में स्थित जाधव के सिल्वर ओक अपार्टमेंट की इमारत के बाहर पटाखे छोड़े। इमारत के बाहर जमा हुई भीड़ ने इस दौरान ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाए।

एक पड़ोसी ने कहा कि जाधव परिवार इमारत की पांचवीं मंजिल पर रहता था लेकिन अब वे यहां से चले गए और उनके फ्लैट में ताला लगा है।

जाधव के बचपन के दोस्त तुलसीदास पवार ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘125 करोड़ भारतीयों की प्रार्थना सुन ली गयी। हम इस तरह के सराहनीय फैसले के लिए आईसीजे को धन्यवाद देते हैं।’’ पवार आईसीजे के फैसले के बारे में जानने के लिए अपने परिवार के लोगों और जाधव के दूसरे दोस्तों के साथ टेलीविजन से चिपके हुए थे। उन्होंने कहा कि वह आईसीजे से सकारात्मक फैसले के लिए प्रार्थना कर रहे थे और अपने दोस्त की भारत सुरक्षित वापसी को लेकर आशान्वित हैं। सतारा जिले के आनेवाडी गांव के लोग भी फैसले से खुश हैं। जाधव की गांव में एक एकड़ जमीन है।

एक गांव वाले ने कहा, ‘‘यह :फैसला: एक अच्छी शुरूआत है। अब भारत को जाधव को रिहा कराने और घर वापस लाने के लिए प्रयास तेज कर देने चाहिए।’’ पवार और जाधव के दूसरे दोस्तों ने ‘‘अदालत से सकारात्मक फैसले’’ की कामना करते हुए यहां गणेश पूजा का भी आयोजन किया था।

एक राजनीतिक दल के कई कार्यकर्ता भी जाधव के घर के बाहर जमा हो गए और स्थानीय लोगों के साथ पटाखे फोड़कर एवं मिठाई बांटकर जश्न मनाया। एक कार्यकर्ता ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने एक अच्छा फैसला लिया, हम बहुत खुश हैं। वह एक भारतीय हैं, आतंकवादी नहीं, इसलिए पाकिस्तान ने जो किया वह अवैध है।’’ कार्यकर्ता ने कहा, ‘‘अब सरकार को उन्हें वापस लाने के लिए कदम उठाने चाहिए। लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है क्योंकि वह अब भी पाकिस्तान में ही हैं। हम उस दिन का इंतजार कर रहे हैं जब वह अपने परिवार के पास लौट आएंगे।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *