एअर इंडिया की फ्लाइट की जयपुर में इमरजेंसी लैंडिंग, भोपाल से दिल्ली जाते वक्त हुई डाइवर्ट

जयपुर.यहां के एयरपोर्ट पर सोमवार को एअर इंडिया की भोपाल-दिल्ली फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। इसकी कई वजह सामने आईं। पहले खबर मिली कि पायलट लो विजिबिलिटी में फ्लाइट की लैंडिंग के लिए ट्रेंड नहीं था। इसलिए इसे डायवर्ट कर जयपुर एयरपोर्ट पर उतारा गया। उसके बाद, फ्लाइट से बर्ड टकराने की खबर आई। हालांकि, जयपुर एयरपोर्ट के डायरेक्टर जयदीप सिंह बलहारा के मुताबिक, पायलट ने पहले फ्यूल कम होने की वजह से प्रायोरिटी लैंडिंग की परमिशन मांगी थी। इस फ्लाइट में 122 पैसेंजर्स और क्रू सवार थे। फ्लाइट से फ्यूल लीकेज हुआ…
– जयदीप सिंह बलहारा ने  बताया- “इस फ्लाइट के पायलट ने पहले दिल्ली एयरपोर्ट पर कम फ्यूल होने की वजह से उतरने की परमिशन मांगी। लेकिन वहांं के एटीसी ने परमिशन नहीं दी।”
– “फ्लाइट को जयपुर ले जाने की बात कही। फ्लाइट को यहां उतारा गया। पता चला कि लीकेज की वजह से फ्यूल कम हो गया है।”
– बता दें कि दिल्ली में खराब मौसम की वजह से सोमवार को कई फ्लाइट्स को करीब एक घंटे तक की देरी हुई।
– बताया जा रहा है कि अमृतसर, जम्मू-श्रीनगर और लेह की फ्लाइट्स को भी आधा से एक घंटे की देरी हुई।
पैसेंजर्स ने बताया- रनवे पर फ्यूल देखा
पैसेंजर नीतू और संजीव बजाज ने बताया कि शायद फ्यूल की कमी की वजह से फ्लाइट को जयपुर लाया गया। बाद में हमने रनवे पर फ्यूल देखा।
– एक और पैसेंजर ने बताया कि जब हम विमान से नीचे उतरे तो रनवे पर खासा फ्यूल फैला हुआ था।
पहले कहा गया बर्ड फ्लाइट से टकरा गई
– इनमें से एक यात्री राजबीर ने बताया कि जब हम यहां उतरे तो कोई भी अरेंजमेंट नहीं था। यहां सुबह 10 बजे फ्लाइट उतारी गई थी तब से एक बज गया, लेकिन कोई यह बताने को तैयार नहीं कि फ्लाइट में क्या हुआ? हम अब चंडीगढ़ कैसे जाएंगे?
– हालांकि एयरपोर्ट पर मौजूद एयर इंडिया के एक अफसर ने बताया कि विमान को जयपुर डायवर्ट करके लाया गया था, लेकिन उतरते समय बर्ड हिट की बात कही।
– भाेपाल से दिल्ली होकर चंडीगढ़ जाने वाले एक ग्रुप की मेंबर सिमरन ने बताया कि एयरपोर्ट पर उतरे तो पता चला कि यहां फ्यूल लीकेज है। इससे पहले तो यही बताया जा रहा था कि दिल्ली में मौसम खराब है। इसलिए डायवर्ट किया गया है। अब चंडीगढ़ इनोवा से भेजा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *