ताजमहल पर सुप्रीम कोर्ट की भावनाओं को समझते हैं हमः महेश शर्मा

ताजमहल को लेकर सुप्रीम कोर्ट की फटकार पर केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट हमारी सुप्रीम संस्था है. ताज को लेकर कोर्ट ने जो कहा है उनके भावनाओं को हम समझते हैं.

उन्होंने कहा, ‘ताज दुनिया के सेवन वंडर्स में से एक है. भारत की शान है ताजमहल . उनके जीर्णोद्धार से संरक्षण को लेकर भारत सरकार, प्रदेश सरकार संकल्पित है. एक बैठक हमने 3 दिन पहले की थी जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मौजूद थे और मैं स्वयं और हर्षवर्धन मौजूद थे. बैठक में हमारा विभाग था और 60 अधिकारी शामिल थे.’

उन्होंने कहा, ‘पहला विषय ताज की स्थिरता को लेकर था क्या आज की बिल्डिंग कहीं से डैमेज हो रही है. जी नहीं, मैं विश्वास दिलाता हूं ताज कि किसी भी बिल्डिंग को कोई खतरा नहीं है. दूसरा विषय ताज अपना रंग बदल रहा है उसका कारण है प्रदूषण. प्रदूषण के स्तर पर जांच हो चुकी है और कुछ जांच बाकी है. हवा में धूल है वहां पर पानी के जमने से प्रदूषण हुआ. पानी की कमी के कारण काई पैदा होने के कारण कीड़ा पैदा हुआ. हम डिस्टिल वाटर से से 10 दिन में 15 दिन में उसको साफ करते हैं.

ताज को बचाने के लिए सरकार के कदमों पर केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का कहना है कि उसको को लेकर एक विजन डॉक्यूमेंट हमने तैयार किया है जिसे सुप्रीम कोर्ट को सौंपा है. हमने ताज रिवीजन एक जॉन बनाया है. वहां सस्टेनेबल डेवलपमेंट के हिसाब से उद्योग भी लगाए जाने हैं, होटल भी बनेंगे, साथ-साथ ताज को सुरक्षित भी करना है.

उन्होंने कहा कि वहां पर 5-7 किलोमीटर के अंदर वायु प्रदूषण को बचाना है. हम ताज को सुरक्षित भी रहे हैं और जहां तक उसके कलर की बात है उसे मुल्तानी मिट्टी से साफ कर रहे हैं. पूरे देश की जनता को विश्वास दिलाता हूं कोई बदलाव नहीं आने दिया जाएगा. इमारत की सुरक्षा और और उसके कलर में कोई बदलाव नहीं आने दी जाएगा.

इंडिया टुडे की सेव द ताज मुहिम पर महेश शर्मा का कहना है कि मैं इंडिया टुडे ग्रुप को साधुवाद देता हूं. प्रधानमंत्री का भी कहना है कि कोई एक व्यक्ति कर देश को साफ नहीं कर सकता है. एक व्यक्ति ताजमहल को साफ नहीं रख सकता सबको मिलकर काम करना है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *