भाजयुमो की रैली 15 से ः हाईकोर्ट

कहा, तब तक नहीं होगी रैली

-रोड मैप जमा करने का आदेश

कोलकाता ः कलकत्ता हाईकोर्ट ने राज्य सरकार का अनुरोध स्वीकार करते हुए भाजयुमो की बाइक रैली(प्रतिरोध संकल्प अभियान) को फिलहाल स्थगित कर दिया है। रैली अब 15 से शुरू होगी जो 20 जनवरी तक चलेगी। शुक्रवार को भाजयुमो की ओर से रैली की सुरक्षा में सरकार के विफल होने का आरोप लगाया गया। बाद में दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद हाईकोर्ट ने कहा कि रैली 15 से 20 जनवरी तक होगी तथा इसके लिए मजिस्ट्रेट(आगे) व स्पेशल ऑफिसर(पीछे) तैनात रहेंगे। न्यायालय ने भाजयुमो को रैली का रोड मैप शनिवार तक जमा करने का आदेश दिया। कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ज्योर्तिमय भट्टाचार्य ने भाजयुमो के आरोप के परिप्रेक्ष्य में कहा कि अगर सरकार/पुलिस रैली को सुरक्षा देने में विफल रहती है तो न्यायालय विकल्प व्यवस्था को देखेगा।

न्यायालय ने कहा कि पहले बताया गया था कि रैली एक रूट से जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। स्पेशल ऑफिसर व आयोजकों के बीच गलतफहमी हुई। ऐसा ठीक नहीं है। गंगासागर मेले के चलते पुलिस व्यस्त है। यह भी सही है। सरकार ने पहले ही कहा था कि 16 तारीख से रैली हो। इसमें कोई भी आपत्ति नहीं है। इसके बाद ही हाईकोर्ट ने भाजयुमो की रैली को 15 जनवरी से शुरू करने की अनुमति दे दी। पता चला है कि न्यायालय ने स्पेशल ऑफिसर, पुलिस व आयोजकों को बैठकर रूट तय करने का आदेश दिया। मालूम हो कि शुक्रवार सुबह जोड़ाबागान में भाजपा व तृणमूल समर्थकों के बीच जबरदस्त झड़प की घटना घटी। भाजयुमो ने विषय को हाईकोर्ट के सामने पेश किया तथा आरोप लगाया कि सरकार रैली को सुरक्षा देने में नाकाम रही। वहीं, हाईकोर्ट द्वारा नियुक्त स्पेशल ऑफिसर ने अदालत को बताया कि वे रैली प्रारम्भ होने के स्थान पर सुबह ही मौजूद हो गए थे। लेकिन वहां कोई भी बाइक रैली के लिए नहीं पहुंची। बाद में उन्हें पता चला कि रैली मो. अली पार्क की तरफ गई है तथा वहां संघर्ष की घटना घटी है। उनके वहां पहुंचने के पहले ही संघर्ष खत्म हो चुका था। पुलिस ने घटना की वीडियो भी न्यायालय के सामने पेश किया। सभी पक्षों की दलील सुनने के बाद कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ज्योर्तिमय भट्टाचार्य ने रैली को 15 से शुरू(मजिस्ट्रेट व स्पेशल ऑफिसर की उपस्थिति में) करने की अनुमति दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *