वेस्ट बंगाल बोर्ड ऑफ ज्वाइंट एंट्रेंस परीक्षाफल घोषित

  सीबीएसई के छात्रों ने दी आईएससी और पश्‍चिम बंगाल के छात्रों को मात

 

कोलकाता, समाज्ञा रिपोर्टर

माध्यमिक और उच्च माध्यमिक में अव्वल स्थान पाकर जहां छात्रों ने जिले का गौरव बढ़ाया वहीं इस बार ज्वाइंट एंट्रेंस की परीक्षाफल ने कोलकाता का मान भी बढ़ाया है लेकिन यह ध्यान देने योग्य है कि एक ओर जहां मेधावी छात्रों की सूची में 4 छात्र कोलकाता से तो है लेकिन अव्वल स्थान पर पश्‍चिम बंगाल बोर्ड के छात्र नहीं है बल्कि सीबीएसई बोर्ड के छात्र है। कोलकाता के बिरला हाई स्कूल के छात्र देबादित्या ने पूरे राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया है, जो सीबीएसई बोर्ड के छात्र है। दूसरे स्थान पर है दुर्गापुर देव मॉडल स्कूल की छात्रा आइरीन घोष भी सीबीएससी बोर्ड की छात्रा है। इसके साथ ही तीसरे स्थान पर है बांकुड़ा के रहने शिव ज्योति सीनियर सेकेंडरी स्कूल, कोटा के हर्षित केडिया भी सीबीएसई बोर्ड से है। इस साल लगभग 1 लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी जिसमें 47 फीसद छात्र सीबीएसई बोर्ड से है। 10 मेधावी छात्रों में से 2 छात्र कोलकाता साउथ प्वाइंट के हैं। प्रथम 10 परीक्षार्थियों में 6 परीक्षार्थी सीबीएसई बोर्ड से है। 26 फीसद परीक्षार्थी पश्‍चिम बंगाल बोर्ड के है। 13 फीसद बिहार बोर्ड से है। 9 फीसदी परीक्षार्थी आएससी बोर्ड और 5 फीसदी छात्र अन्य बोर्ड के परीक्षार्थी है।

साथ ही पश्‍चिम बंगाल बोर्ड ऑफ ज्वाइंट एंट्रेंस के सदस्य से मिली जानकारी के अनुसार आगामी 12 जून से सफल छात्रों की काउंसिलिंग की जायेगी। साथ ही बोर्ड की ओर से यह भी बताया गया कि जैसा कि परीक्षा में निगेटिव मार्किंग थी और एक प्रश्‍न गलत दिया गया था । उस आधर पर जिन छात्रों ने शून्य से अधिक नंबर स्कोर किया है वह भी काउंसिलिंग  के लिए जा सकेंगे। उल्लेखनीय है कि परीक्षा के 43 दिन के बाद नतीजे घोषित किये गये। इंजीनियरिंग की काउंसिलिंग के लिए  इस बार एक साथ 1,00,433 परीक्षार्थी जा सकेंगे। जबकि फारमेसी की काउंसिलिंग के लिए  1,00,175 परीक्षार्थी जा सकेंगे। साथ ही अगले साल पश्‍चिम बंगाल बोर्ड ऑफ ज्वाइंट एंट्रेंस परीक्षा की तारीख आगामी 22 अप्रैल तय की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *