क्या मुख्यमंत्री संविधान का पालन कर रहीं : मुकुल

-दावा, माकपा की तरह ही डरी तृणमूल कांग्रेस

-चुनाव आयोग से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगाई

कोलकाता ः भाजपा नेता मुकुल राय ने शनिवार को कहा कि देश में सभी को संविधान के तहत जिम्मेवारियों का पालन करना पड़ता है। लेकिन शुक्रवार की घटना(जोड़ाबागान झड़प कांड) के मामले में क्या बतौर गृह/पुलिस मंत्री, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी जिम्मेवारियों का निर्वाहन कर रही हैं? क्या वे भाजपा से डर गई हैं? चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुकुल ने पार्टी कार्यालय/कर्मियों पर हुए हमले के बारे में शनिवार को यह सवाल किया। उन्होंने आयोग से उलबेड़िया लोकसभा व नोआपाड़ा विधानसभा उपचुनाव में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था अपनाने की भी गुहार लगाई। उन्होंने दावा किया कि माकपा की तरह ही तृणमूल कांग्रेस भी भाजपा से डर गई है।

चुनाव आयोग से मुलाकात कर मुकुल ने उलबेड़िया लोकसभा व नोआपाड़ा विधानसभा उपचुनाव में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के लिए केंद्रीय सुरक्षा बल की तैनाती की मांग के साथ ही निष्पक्ष व हिंसामुक्त मतदान कराने की भी मांग की। मुकुल ने दावा किया कि जैसे कार्यकाल के अंतिम सालों में माकपा डर गई थी, वैसे ही तृणमूल कांग्रेस भी भाजपा के बंगाल में बढ़ते प्रभाव व मिल रहे समर्थन से डर गई है। उन्होंने कहा कि माकपा को समझ आ गया था कि अगर लोगों को मताधिकार मिला तो वे उसकी सरकार को हटा देंगे, वैसे ही तृणमूल भी मान रही है कि लोगों को वोट देने का मौका मिला तो उसकी सत्ता चली जाएगी। और इसी डर से तृणमूल कांग्रेस हिंसा का सहारा ले रही है। नीतिन गड़करी के बिजनेस समिट में नहीं आने के सवाल पर मुकुल ने कहा कि यह सरकार तो पहले से ही केंद्र की अनदेखी कर रही है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री नहीं भी आ सकते हैं। वैसे पहले के समिट में भी केंद्रीय मंत्री शामिल नहीं हुए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि उलबेड़िया संसदीय सीट के कई विधानसभा क्षेत्रों में लोगों को बोलने नहीं दिया जा रहा है। उन्हें वोट के बाद देख लेने की धमकी दी जा रही है। उन्होंने मांग की कि 100 मीटर के दायरे में कतारबद्ध सभी मतदाताओं के परिचय पत्र की जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 2011 के पहले आयोग से मिलकर कहता था कि राज्य में लोकतंत्र नहीं है। अब 7 साल बाद भी ऐसा ही कहने में काफी तकलीफ होती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *