समाज्ञा

मैं जाना चाहती थी शिकागो : ममता

ममता पहुंचीं बेलूड़ मठ

हावड़ा : मैं शिकागो जाना चाहती थी लेकिन साजिश के तहत मुझे जाने से रोक दिया गया। मेरे शिकागो जाने पर आपत्ती जतायी गयी। इसका मुझे आज भी दुख हैं। उक्त बातें राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बेलूड़ मठ में कहा। दरअसल, मंगलवार को शिकागो में स्वामी विवेकानंद के भाषण की 125 वीं वर्षगांठ के अवसर पर रामकृष्ण मिशन और बेलूड़ मठ में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मुख्य अतिथि के तौर पर बेलूड़ मठ में उपस्थित रहीं। मुख्यमंत्री बेलूड़ मठ में शाम के करीब 4.30 बजे पहुंची। मठ पहुंचकर मुख्यमंत्री विवेकानंद आवास गृह गयीं। इस दौरान उनके साथ ब्रिटिश हाई कमिश्‍नर के ब्रिटिश डिप्टी कमिश्‍नर ब्रुश ब्रुकलिन, बेलूड़ मठ के महाराज स्वामी स्मरणानंदजी, महाराज सुविरानंदजी, सांसद प्रसून बनर्जी, बाली की विधायक वैशाली डालमिया मौजूद थी। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मठ में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में मौजूद विद्यार्थियों का स्वामी विवेकानंद के पद चिन्हों पर चलने की हिदायत दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामीजी ने मानवता के धर्म को बढ़ावा दिया था और मैं उनके बनाए हुए मानवता धर्म का ही पालन करती हूं।