बंग भंग नहीं होने दूंगी : ममता

-कहा, कश्मीर नहीं संभाल सकते

-आरोप, बंगाल को बांटेन की साजिश

कोलकाता/बर्दवान : दार्जिलिंग में जारी हिंसक गोरखालैंड आंदोलन के मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार पर केंद्र पर बड़ा हमला बोला है। गुरुवार को बर्दवान में प्रशासनिक बैठक करने पहुंचीं मुख्यमंत्री ने कहा कि दार्जिलिंग में जारी अस्थिरता में केंद्र ईंधन डाल रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र बंगाल को बांटने के लिए वहां के लोगों को भड़का भी रहा है। लेकिन मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनके जीवनकाल में बंगाल को बांटने का किसी का सपना पूरा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मैं बंग भंग नहीं होने दूंगीं। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर हमला और तेज करते हुए कहा कि आप(केंद्र सरकार) कश्मीर को नहीं संभाल सकते। मामले में केंद्र पूरी तरह विफल है। लेकिन आप दार्जिलिंग के मुद्दे में हस्तक्षेप कर रहे हैं तथा लोगों के दिमाग में उसे बांटने का ईंधन(भाव) भर रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि वे अपने जीवन काल में बंगाल का नहीं बंटने देंगीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम दार्जिलिंग के लोगों को सब कुछ देने के लिए तैयार हैं जो उन्हें चाहिए। लेकिन मेरे जीवनकाल में मैं बंगाल का विभाजन नहीं होने दूंगीं, नहीं होने दूंगीं, उन्होंने लोगों को आश्‍वसत किया।

कैबिनेट के फैसले का विरोध : 52 हजार करोड़ के घाटे में चल रही एयर इंडिया को निजी हाथों में सौंपने के केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी की कड़ी आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इतनी पुरानी एयरलाइन्स को नहीं बेचा जाना चाहिए, क्योंकि यह देश का गर्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने(केंद्र) नागरिक उड्डयन विभाग को बंद करने का फैसला किया है। एयर इंडिया को बेचने का निर्णय लिया है, लेकिन मेरा मानना है कि एयर इंडिया व इंडियन एयरलाइन्स दोनों देश के लिए गर्व हैं। इतनी बड़ी कंपनी जिसके साथ ढेर सारे हेरिटेज व स्मृतियां जुड़ी हैं, उन्हें बेचना नहीं चाहिए, बल्की उन्हें संरक्षित रखना चाहिए। टी बोर्ड के चेयरमैन को डिप्टी चेयरमैन बनाने के केंद्र के फैसले की आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एक पार्टी से जुड़े व्यक्ति को चेयरमैन बनाने की कोशिश बोर्ड के सेहत के लिए ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने उनका नाम चेयरमैन के पद के लिए भेजा था। वे मुख्य सचिव के रूप में काम कर रहे हैें। वे केंद्र से सीधे निर्देश क्यों स्वीकार करेंगें? मुख्यमंत्री ने कहा कि हम इस बारे में कड़ा विरोध पत्र केंद्र को जल्द ही भेजेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को ध्वस्त कर रहा है तथा तानाशाही जारी है। सभी इससे डरे हुए हैं। इसीलिए मैं विरोध कर रही हूं। अगर हमारे ऊपर हमला होगा, हम सामना करेंगे। आगर साजिश हुई तो हम उसका पर्दाफाश करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *