शिवसेना ने झंडा मामले में सोनिया को दी कर्नाटक के मुख्यमंत्री को बर्खास्त करने की चुनौती

मुंबई , 20 जुलाई : शिव सेना ने कर्नाटक सरकार के राज्य के लिए अलग झंडे की संभावना तलाशने संबंधी मामले की तीखी आलोचना करते हुए आज कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को मुख्यमंत्री को बर्खास्त कर देना चाहिए क्योंकि यह कदम इतिहास और पार्टी के आदर्शों के विपरीत है।

शिवसेना ने केन्द्र से कर्नाटक सरकार को भंग करने अथवा राज्य को मिलने वाली सभी सहायताओं को तत्काल बंद करने की भी मांग की।

शिवसेना ने कर्नाटक में कांग्रेस सरकार के कदम को ‘‘तिरस्कार योग्य’ और ‘‘असंवैधानिक’’ करार दिया जो कि राजद्रोह की श्रेणी में आता है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा कि यह राष्ट्रीय ध्वज का अपमान है और उन स्वतंत्रता सेनानियों तथा जवानों का अपमान है जिन्होंने देश के लिए अपना जीवन बलिदान कर दिया।

सामना में कहा गया, ‘‘सोनिया गांधी को मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को पद से इस्तीफ दिलाना चाहिए और देश के प्रति अपने प्रेम को दिखाना चाहिए।’’ संपादकीय में कहा गया, ‘‘ कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने राज्य के लिए अलग झंडे की मांग करके तिरस्कार योग्य काम किया है। ’’ उन्होंने कहा कि सरदार वल्लभभाई पटेल ने सभी राज्यों को एक राष्ट्रीय ध्वज के नीचे लाने के लिए काम किया लेकिन सिद्धारमैया अपनी ही पार्टी की विचारधारा के विपरीत चले गए।

संपादकीय में कहा गया कि सिद्धारमैया कर्नाटक के लिए खास पहचान चाहते थे तो उन्हें अभूतपूर्व काम करके राज्य को अलग पहचान दिलानी चाहिए थी लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया और इसलिए अब ‘‘अपमानजनक मांगे’’ कर रहे हैं।

कर्नाटक सरकार ने कल कहा था कि यह मुद्दा कि क्या किसी राज्य का अपना झंडा हो सकता है इसके लिए कोई तय नियम नहीं हैं क्योंकि देश के किसी कानून में इसका कोई जिक्र नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *