अमरीका की धमकी बेअसर, नहीं बाज आया ईरान

दुबईः अमरीका और ईरान के बीच तनातनी और गहरा गई है। एक दिन पहले लगाए गए नए अमरीकी प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए उसकी धमकी की परवाह किए बिना ईरान ने शनिवार को फिर मिसाइल और रडार सिस्टम का परीक्षण किया। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण से खफा होकर नए प्रतिबंध लगाए थे। ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने वैबसाइट पर लिखा कि सेमनान प्रांत में सैन्य अभ्यास का लक्ष्य ईरान की ताकत दिखाना और अमरीकी प्रतिबंधों को खारिज करना था।

ईरानी समाचार एजैंसियों ने बताया कि अभ्यास के दौरान स्वदेशी मिसाइलों, रडार व्यवस्था और अन्य का परीक्षण होना था। इस बीच, अमरीकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने ईरान को आतंकवाद को सबसे बड़ा प्रायोजक बताते हुए कहा कहा कि तेहरान की हरकतों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा। हालांकि, उन्होंने यह भी साफ किया कि फिलहाल ईरान से निपटने के लिए मिडिल ईस्ट में अमरीकी सैन्यबल बढ़ाने पर विचार नहीं चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि ईरान ने बुधवार को एक बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण का दावा किया था। उसका कहना था कि परीक्षण से किसी समझौते का उल्लंघन नहीं किया गया। 2015 में वैश्विक ताकतों से परमाणु समझौता होने के बाद से ईरान ऐसे कई परीक्षण कर चुका है, लेकिन ट्रंप के पद संभालने के बाद यह पहला परीक्षण था। ट्रंप ने चुनावी भाषण में ईरान के मिसाइल कार्यक्रम को रोकने का वादा किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *