चीन की अर्थव्यवस्था दूसरी तिमाही में धीमी पड़ी, अमेरिका से ट्रेड वॉर का असर

बीजिंग: चीन की आर्थिक वृद्धि दर 2018 की दूसरी तिमाही में धीमी पड़ी है. चीन ने इसकी प्रमुख वजह अमेरिका के साथ व्यापार युद्ध का तेज होना बताया है. साथ ही इस व्यापार युद्ध के संभावित वैश्विक नुकसान के प्रति चेताया भी है. दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन की वृद्धि दर अप्रैल-जून तिमाही में 6.7% रही जो जनवरी-मार्च में 6.8% थी. यह एएफपी के एक सर्वेक्षण के अनुमान के मुताबिक है.

राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के प्रवक्ता माओ शेंगयोंग ने कहा कि भले ही तिमाही आधार पर चीन की आर्थिक वृद्धि में गिरावट देखी गई है, लेकिन अभी भी यह सरकार द्वारा तय 6.5% की वार्षिक लक्ष्य से ऊंची है. लेकिन, चीन को वर्तमान में ‘घरेलू और वैश्विक’ दोनों स्तर पर ‘कठिन दौर’ का सामना करना पड़ रहा है.

शेंगयोंग ने कहा कि अपनी अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए चीन को इस समय कई मोर्चों पर लड़ना पड़ रहा है. इसमें चीनी मुद्रा युआन और चीनी शेयर बाजारों के जोखिम भरे हालों में चीन पर कर्ज का बढ़ता बोझ शामिल है. वहीं, वैश्विक व्यापार में संरक्षणवाद के बढ़ने से व्याप्त तनाव से दुनिया की अर्थव्यवस्था में सुधार लाने के सामने एक बड़ी चुनौती खड़ी है. शेंगयोंग ने कहा कि गहराते व्यापार संकट के वास्तविक प्रभाव अभी दिखाई दिए जाने बाकी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *