चीन में बदल गया सरकार का ढांचा, मिसाइल मैन बना रक्षा मंत्री

शी जिनपिंग के आजीवन राष्ट्रपति बनने के बाद अब चीन में सरकार के ढांचे में भारी बदलाव किया गया है. चार नए उप प्रधानमंत्रियों की नियुक्ति के साथ ही नए रक्षा मंत्री का भी ऐलान कर दिया गया है. करीब दो दर्जन मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया गया है.

इस फेरबदल को रबर स्टैंप संसद माने जाने वाले नेशनल पीपल्स कांग्रेस (NPC) की मंजूरी मिल गई है. नई व्यवस्था के अनुसार हान झेंग, सुन छुनलान, हू चुनहुआ और लिउ हे को चीन का उप प्रधानमंत्री बनाया गया है. इनके नाम का प्रस्ताव प्रधानमंत्री ली केकियांग ने रखा और इसे 3,000 सदस्यों वाली एनपीसी ने मंजूरी दी.

मिसाइल मैन बने रक्षा मंत्री

भारत के लिहाज से देखें तो एक महत्वपूर्ण नियुक्ति होती है रक्षा मंत्री की, इस पद पर लेफ्ट‍िनेंट जनरल वेई फेंघे को नियुक्त किया गया है. वे चीन के मिसाइल मैन के नाम से मशहूर हैं. चीन की सेना के तेजी से आधुनिकीकरण और उसको पुनर्संगठित करने का श्रेय वेई को ही जाता है. चीन के सामरिक मिसाइल बल को दो हिस्सों रॉकेट फोर्स और सामरिक सपोर्ट फोर्स में बांटने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है.

पीएम मोदी ने दी शी को बधाई

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के फिर से राष्ट्रपति चुने जाने पर बधाई दी है. उन्होंने उम्मीद जताई है कि शी के साथ मिलकर वह दोनों देशों के रिश्तों को और मजबूत करेंगे.

चीन की सोशल नेटवर्किंग साइट सिना वीबो पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आपको चीन जनवादी गणराज्य के चेयरमैन (राष्ट्रपति) पद पर फिर से चुने जाने के लिए बधाई. मैं आपके साथ मिलकर आगे भारत-चीन रिश्तों को और आगे बढ़ाने के लिए काम करने की उम्मीद करता हूं.’

इन सभी बदलावों को शी के लगातार मजबूत होते कद के रूप में ही देखा जा रहा है. राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पिछले हफ्ते पांच साल के लिए फिर से राष्ट्रपति चुना गया. हालांकि, एक संविधान संशोधन के द्वारा उनके आजीवन राष्ट्रपति रहने पर मुहर लगा दी गई है. शी के बेहद करीबी और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के प्रमुख वांग क्विशान को उप राष्ट्रपति चुना गया है.

संसद ने रविवार को ही प्रधानमंत्री ली केकियांग को एक बार फिर देश का प्रधानमंत्री चुना है. शी जिनपिंग ने ही ली केकियांग को इस पद के लिए दोबारा नामांकित किया था. इस तरह जिनपिंग अब और ताकतवर हो गए हैं.

सूत्रों के मुताबिक उप प्रधानमंत्री लिउ हे की अब चीनी अर्थव्यवस्था के प्रबंधन में बड़ी भूमिका होगी. विदेश मंत्री वां यी को प्रमोशन देकर स्टेट काउंसलर बना दिया गया है. इस तरह वह दो पदों पर रहने वाले शीर्ष डिप्लोमेट हो गए हैं.  

छेन वेगविंग आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय संभालने वाले सुरक्षा जार बने रहेंगे. दूसरी तरफ, एक सुधारवादी यी गैंग को पीपल्स बैंक ऑफ चाइना का नया गवर्नर बनाया गया है जो देश का केंद्रीय बैंक है. इस पद पर पिछले 15 साल में पहली बार बदलाव किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *