सीबीआई के पूर्व निदेशक के ठिकाने पर पुलिस का छापा

-नागेश्वर राव ने आरोप से इनकार किया
कोलकाता : कोलकाता पुलिस के कमिश्नर व सीबीआई के बीच जारी गतिरोध के बीच ही अब एक्शन में आते हुए कोलताता पुलिस ने सीबीआई के पूर्व निदेशक नागेश्वर राव के कोलकाता स्थित 2 ठिकानों पर छापामारी की है। माना जा रहा है कि अपने कार्यकाल के अंतिम दिन राव ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ कार्रवाई की हरी झंडी दिखाई?थी तथा कोलकाता पुलिस की कार्रवाई उसी का पलटवार हो सकता है। वैसे भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार केंद्र(सीबीआई) के खिलाफ राजीव कुमार के मुद्दे पर रविवार से एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जलपाईगुड़ी की सभा में एक बार?फिर कहा कि सारदा व रोजवैली चिटफंड घोटाले के आरोपियों को नहीं बख्सा जाएगा। इस बीच सूत्रोेंका कहना है कि कोलकाता पुलिस की विशेष शाखा ने साल्टलेक स्थित सीए/39 व क्लाइव रो स्थित एक संस्था के 2 ठिकानों पर छापामारी की है। यह भी पता चला है कि नागेश्वर राव की पत्नी व आरोपी संस्था के बीच हाल ही में लगभग 1.14 करोड़ रुपए के लेनदेन का मामला सामने आया था। इसी मामले में पुलिस छापामारी की। इस कंपनी के प्रमुख निदेशक प्रवीण अग्रवाल हैं। मालूम हो कि ऋषि कुमार शुक्ला के सीबीआई निदेशक बनने के पहले नागेश्वर राव ही एजेंसी के अंतरिम निदेशक का पद संभाल रहे थे।

इस बीच नागेश्वर राव ने एक बयान जारी कर मीडिया रिपोर्ट का खंडन करते हुए कहा कि उन्होंने लेनदेन संबंधी सभी तथ्य तथा दस्तावेज संबंधित विभाग व अधिकारियों को पहले ही मुहैया करा दी है तथा अब उठ रहे सारे आरोप बेबुनियाद हैं। उन्होंने अपनी पत्नी मानेन संध्या व प्रवीण अग्रवाल की कंपनी मे. ऐंजेला मर्केन्टाइल प्रा. लि. के बीच 2010 से 2014 के दौरान हुए लेनदेन के बारे में जानकारी दी है। उन्होंने पूरे मामले को एक प्रोपेगंडा करार दिया है।

आज राजीव-सीबीआई आमने-सामने : इस बीच शुक्रवार को ही कोलकाता पुलिस के कमिश्नर राजीव कुमार शिलांग पहुंच गए। उनके साथ 2 आईपीएस अति. कमिश्नर जावेद शमीम व डीसी एसटीएफ मुरलीधर शर्मा भी उनकी मदद के लिए साथ गए हैं। शिलांग में सारदा घोटाले को लेकर सीबीआई उनसे पूछताछ करने वाली है। राजीव के साथ मेघालय के पूर्व महाधिवक्ता विश्वजीत देव भी गए हैं। वे वहां के तृणमूल पर्यवेक्षक हैं। वहीं, मेघालय सरकार ने राजीव को सुरक्षा व गाड़ी का इंतजाम किया है क्योंकि वे वाई कैटेगरी की सुरक्षा पाते हैं। वे शिलांग शहर से 5 किमी. दूर एक रिसर्ट में रहेंगे। लेकिन हैरान करने वाली बात है कि राजीव के कोलकाता छोड़ने के कुछ घंटे बाद ही कोलकाता पुलिस का ऐक्शन शुरू हो गया तथा उसने पूर्व सीबीआई निदेशकके दो ठिकानों को खंगालने का काम शुरू कर दिया। वैसे पुलिस ने छापामारी पर कोई टिप्पणी नहीं की। माना जा रहा है कि कोलकाता पुलिस शनिवार को इस बारे में मुंह खोल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *