परीक्षा शुरू होने के बाद ही सोशल साइट पर वायरल हुआ प्रश्‍न पत्र

धरी रह गयी प्रशासन की सख्ती

कोलकाता : राज्य में माध्यमिक परीक्षा केंद्रों से प्रश्‍न पत्र लीक होने की समस्या से निजात पाने के लिए राज्य शिक्षा विभाग ने इस बार तमाम तरह की सख्ती बरती थी। लेकिन मंगलवार को शुरू हुई माथ्यमिक परीक्षा के पहले ही दिन सारी तैयारियां धरी की धरी रह गईं और परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे के अंदर प्रश्‍नपत्र सोशल साइटों पर वायरल हो गया। दरअसल 11:45 बजे से परीक्षा शुरू हुई और 12:20 बजे के करीब फेसबुक, ट्विटर और ह्वाट्सएप पर प्रश्‍न पत्र साझा किया जाने लगा था। इसका खुलासा होने के बाद पश्‍चिम बंगाल मध्य शिक्षा परिषद में हंगामा मच गया। जानकारी के अनुसार परिषद ने घटना की जांच का निर्देश दे दिया है। इसकी जांच के लिए राज्य प्रशासन के साइबर सेल से मदद मांगी गई है। गौरतलब है कि पिछले साल उत्तर बंगाल के मयनागुड़ी के एक स्कूल के प्रधानाध्यापक ने छात्रों को आधे घंटे पहले ही प्रश्‍न पत्र दे दिया था और उसे सोशल साइट पर भी लीक कर दिया गया। जिसके बाद इस साल इसे रोकने के लिए शिक्षा विभाग ने स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को प्रश्‍न पत्र खोलने की जिम्मेदारी से दूर कर दिया था। इसके लिए शिक्षा विभाग में अतिरिक्त तौर पर अलग-अलग विभागों के सरकारी कर्मचारियों को नियुक्त किया था। इसके बावजूद प्रश्‍न पत्र किस तरह से सोशल साइट पर लीक हो गया जो सवालों के घेरे में है। इसके अलावा परीक्षा संपन्न कराने की ड्यूटी में लगे विशेष अधिकारियों के अलावा अन्य सरकारी कर्मचारियों के मोबाइल फोन भी जमा ले लिए गए थे। ऐसे में सोशल साइट पर प्रश्‍न पत्र का लीक होना सुरक्षा व्यवस्था में लापरवाही का संकेत है। परीक्षा शुरू होने से 20 मिनट पहले यानी 11:40 पर प्रश्‍न पत्र खोलने की अनुमति थी। पांच मिनट पहले उत्तर पुस्तिका वितरण करने को कहा गया था। किसी तरह की कोई सुरक्षा खामी ना रह जाए इसके लिए स्कूलों में काम करने वाले गैर शिक्षाकर्मियों के मोबाइल फोन भी अलमारी में रखकर जमा कर लिए गए थे। बंगाल माध्यमिक शिक्षा परिषद के अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली ने इसे लेकर विशेष तौर पर निर्देशिका भी जारी की थी। बावजूद इसके परीक्षा के पहले दिन प्रश्‍न पत्र का सोशल साइट पर लीक हो जाना सुरक्षा व्यवस्थाओं को ठेंगा दिखाने वाला है। ‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *