कॉलेज-विवि पास विद्यार्थियों को इंटर्नशिप का मौका : ममता

-प्राथमिक व माध्यमिक स्तर तक, अभी अंतिम फैसला नहीं
-वीसी व प्रिंसिपलों के साथ मुख्यमंत्री ने नवान्न में की बैठक
कोलकाता : राज्य में शिक्षकों की किल्लत दूर करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कॉलेजों व विवि से उर्तीण विद्यार्थियों को इंटर्नशिप देकर समस्या का समाधान करने की योजना बनाई है। हालांकि, यह योजना प्राथमिक स्तर(प्रस्ताव) पर है तथा अंतिम फैसला नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को नवान्न में वीसी, प्रिंसिपल, शिक्षा मंत्री व संबंधित अधिकायिरों संग बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अभी योजना प्राथमिक सोच स्तर पर है तथा हम देखेंगे कि क्या हो सकता है? इंटर्न को प्राथमिक व माध्यमिक स्कूलों में 2 साल तक पढ़ाने का मौका मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी योजना काफी प्राथमिक स्तर पर है। वित्त सचिव व शिक्षा सचिव ख्य सचिव संग मुद्दे पर विचार विमर्श करेंगे। उन्होंने कहा कि देखा जा रहा है कि कई स्थानों(स्कूलों) पर काफी शिक्षक हैं जबकि कई स्थानों पर शिक्षकों की काफी कमी है। लेकिन हम दोनों में संतुलन बनाए रखना चाहते हैं। हमारी योजना इस मुद्दे पर संतुलन बनाए रखना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके 2 विचार हैं। पहला यह कि अगर कक्षा 5 को प्राथमिक स्तर की श्रेणी में लाया जा सके। दूसरा कॉलेजों व विवि से उर्तीण विद्यार्थियों को स्कूलों में 2 साल के इंटर्नशिप के तहत लाया जा सके। इसके लिए उन्हें सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। अगर उनका प्रदर्शन संतोषजनक रहा तो शिक्षक नियुक्ति के समय भी उन्हें वरीयता मिल सकेगी। प्राथमिक स्तर पर इंटर्नशिप 2 हजार रुपए तथा माध्यमिक स्तर पर यह राशि 2.5 हजार रुपए होगी। काम अच्छा होने पर इसका पुर्निरीक्षण(रिव्यू) भी होगा। राज्य में शिक्षा के प्रति बढ़ती रुचि का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्याश्री के चलते स्कूलों में लड़किों की भर्ती 72 फीसदी बढ़ी है। यह सभी के लिए बड़े गर्व की बात है। संख्या 13 लाख से भी अधिक हो गई है। उन्होंने कहा कि सरकार, राज्य में और भी हिंदी व उर्दू कॉलेजों की स्थापना करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक 28 विवि स्थापित हुए हैं तथा शिक्षा के विकास के लिए हम लगातार प्रयासरत है। इस बैठक में 30 विवि के वीसी व दर्जनों कॉलेजों के प्रिंसिपलों ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *