राजीव कुमार एवंम कुणाल घोष आमने-सामने:सारदा चिटफंड घोटाला


सीबीआई ने दूसरे दिन भी की पूछताछ
शिलांग/कोलकाता : कोलकाता पुलिस आरुक्त राजीव कुमार और तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद कुणाल घोष से सारदा चिटफंड घोटाला मामले में शिलांग सीबीआई कार्यालय में रविवार को पूछताछ हुई। राजीव से एजेंसी के अधिकारियों ने शनिवार को भी 7 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी। एजेंसी ने कुणाल से रविवार को पहली दफा सवाल-जवाब किया। सूत्रों का दावा है कि एजेंसी ने रविवार को दूसरे चरण की पूछताछ में दोपहर बाद राजीव व कुणाल को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। मालूम हो कि उच्चतम न्यायालय के निर्देश के मुताबिक कुमार से रविवार को दूसरे दिन भी पूछताछ जारी रही। अधिकारीयों ने बताया कि कोलकाता पुलिस प्रमुख से शनिवार को सीबीआई के तीन वरिष्ठ अधिकारिरों ने मामले में महत्वपूर्ण साक्षो से छेड़छाड़ में उनकी कथित भूमिका को लेकर कई घंटे तक पूछताछ की थी।
मालूम हो कि मुख्रमंत्री ममता बनर्जी की तरफ से सारदा घोटाले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) का नेतृत्व कुमार ने किया था। इसके बाद उच्चतम
न्यायालय ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी। सीबीआई
कार्यालय में प्रवेश करने से पहले कुणाल ने पत्रकारों से कहा कि उन्हेें कुछ नहीं कहना है। उन्हेों इस
कार्यालय में सुनवाई में हिस्सा लेने के लिए कहा गया है। वे जांच एजेंसी से हमेशा सहयोग करते रहे हैं। इसलिए वे इसमें शामिल होने आए हैं। तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद को सारदा चिटफंड घोटाले में 2013 में गिरफ्तार किरा गया था और 2016 से वह जमानत पर बाहर हैं। सीबीआई, राजीव कुमार से उनका आमना-सामना करा कर उनके द्वारा लगाए गए आरोपों व अन्य सबूतों के बारे में निश्चित होना चाहती है। कुणाल ने भाजपा नेता मुकुल राय और 12 अन्र को सारदा चिटफंड घोटाले में संलिप्त बताया था। मुकुल कभी ममता बनर्जी का दाहिना हाथ होते थे। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को कुमार को निर्देश दिया था कि सीबीआई के समक्ष पेश होंगे और मामलों की जांच में सहयोग करेंगे ।
वीडियो रिकार्डिंग : इस सूत्रों का दावा है कि शनिवार को पूछताछ शुरू होने से पहले ही राजीव कुमार ने एजेंसी से पूरे मामले की वीडियो रिकार्डिंग करने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि उनके साथ सीबीआई अधिकारियों की पूरी बातचीत रिकार्ड की जाय। इसीलिए पूरे प्रश्नोत्तर कल की वीडियो रिकार्डिंग की जा रही है। रविवार को भी राजीव के साथ आईपीएस जावेद शमीम व आईपीएस मुरलीधर शर्मा साथ थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *