शिवपुर के कुख्यात की सोदपुर में गोली मारकर हत्या

सोदपुर में अपने घर में सो रहा था रमुआ

हावड़ा/कोलकाता : रविवार की देर रात शिवपुर के कुख्यात रमुआ की सोदपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गयी। अभियुक्तों ने रमुआ के घर में घुसकर पत्नी व बच्चों के सामने रमुआ पर एक के बाद एक तीन गोलियां दाग दी। घटना खड़दह थाना अंतर्गत सोदपुर के अमरावती इलाके की है। रमुआ का पूरा नाम राममूर्ति दियार (47) है लेकिन हावड़ा में वह रमुआ के नाम से जाना जाता था। मामले की जानकारी मिलने पर सोमवार की तड़के खड़दह थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तथा शव को बरामद किया। मृतक के परिजनों के अनुसार रविवार की रात को करीब 1 बजे घर के दरवाजे की घंटी बजी तो रमुआ का बेटा दरवाजा खोलने गया। दरवाजा खोलते ही बाहर मुंह को कपड़े से ढककर खड़े 8 लोगों ने बेटे के सिर पर गोली तान दी। बेटे की चिल्लाने की आवाज सुनते ही रमुआ, उसकी पत्नी व बेटी सभी कमरे से बाहर आ गये। आरोप है कि तभी बदमाशों ने तीन तल्ले पर रमुआ के फ्लैट में जाकर पत्नी और बेटी के सामने ही रमुआ को गोली मार दी। घटना को अंजाम देकर सभी बदमाश वहां से फरार हो गये। सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने खून से लतपथ अवस्था में राममूर्ति को पानीहाटी स्टेट जेनेरल अस्पताल ले गये जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। रमुआ की पत्नी ने पुलिस को बताया कि सभी बदमाशों ने मुंह पर कपड़ा बांध रखा था जिसके कारण वह किसी को भी पहचान नहीं पायी। पुलिस का प्राथमिक अनुमान हैं कि किसी पुरानी रंजिश के कारण हत्या की गयी है। खड़दह थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही हैं।

रमुआ के खिलाफ हावड़ा के विभिन्न थानों में दर्जनों आपराधिक मामले हैं दर्ज

पुलिस व शिवपुर के स्थानीय सूत्रों के अनुसार रमुआ पहले शिवपुर थाना अंतर्गत कुंडल बगान का रहने वाला था। वही पर अपने परिवार समेत रहता था। वह शिवपुर में दादागिरी करते-करते एक कुख्यात बन गया था। उसके खिलाफ हावड़ा के विभिन्न थानों में हत्या, जबरन वसूली और अपहरण समेत अन्य कई मामले दर्ज हैं। कई मामलों में वह जेल की सजा भी काट चुका है। हत्या के ममाले में वह गत कुछ साल पहले जेल की सजा काट रहा था। गत नवंबर में ही वह जमानत पर जेल से बाहर आया था। 16 नवंबर को जेल से जमानत पर बाहर आने के बाद वह सोदपुर स्थित अपने घर में रह रहा था।

युवक का गर्दन काटकर खेला था फुटबॉल
शिवपुर के स्थानीय सूत्रों ने बताया कि रमुआ ने बहुते साल पहले एक युवक का गर्दन काटकर फुटबॉल खेला था। सूत्रों ने बताया कि साल 1996 के 15 अगस्त के दिन शिवपुर थाना अंतर्गत जीटी रोड के समीप रहने वाले एक युवक नसीर अहमद की रमुआ ने चॉपर से गर्दन काटकर उसकी हत्या कर दी थी। इसके बाद हावड़ा जूट मिल के सामने के मैदान में सबके सामने उसके गर्दन से फुटबॉल खेला था। थाने में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया था जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा कुछ साल पहले सांतरागाछी ब्रिज के नीचे एक व्यक्ति के कटे हुए हाथ, पैर और गर्दन बरामद हुए थे। इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने रमुआ को गिरफ्तार किया था। आरोप है कि रमुआ ने व्यक्ति की हत्या करके उसके शरीर के सभी अंगों को कांट कर ब्रिज के नीचे फेक दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *