इस वजह से आज भी लगता है दिनेश कार्तिक को ‘डर’

टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक को पता है कि एक टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन करना उन्हें टीम से बाहर कर सकता है लेकिन वह इस दवाब की स्थिति में शानदार प्रदर्शन के बूते भुनाना चाहते हैं.

कार्तिक भारतीय क्रिकेट में लंबे समय से है लेकिन टीम में जगह पक्की करने में सफल नहीं हो सके. उन्हें नियमित खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी मेंही खेलने का मौका मिलता है.

बांग्लादेश के खिलाफ टी20 ट्राई सीरीज में रविवार को खेले जाने वाले फाइनल से पहले उन्होंने यहां कहा, ‘मैं जिस स्थिति में हूं, मेरे लिए हर टूर्नामेंट जरूरी है. एक टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन के बाद मुझे बाहर किया जा सकता है. इसलिए मेरे लिये यह जरूरी है कि हर टूर्नामेंट में अपने खेल के शीर्ष पर रहूं और जितना बेहतर प्रदर्शन संभव हो उतना करूं.’

उन्होंने कहा, ‘दबाव (खुद पर) है लेकिन मैं जहां हूं, मुझे दबाव की स्थिति सें निपटने में सक्षम होना चाहिए. इससे पीछे हटने या बहाना बनाने की जगह मुझे इस मौके का फायदा उठाना चाहिए. मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं किस टूर्नामेंट में खेल रहा हूं, वो यह टूर्नामेंट हो, आईपीएल या इंग्लैंड के साथ सीरीज़ हो, मेरे लिए हर मैच अहम है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *