समाज्ञा

एशियाडः महिला हॉकी में भारत ने 20 साल बाद बनाई फाइनल में जगह , चीन को 1-0 से हराया

31 अगस्त को खिताबी मुकाबले में जापान से होगी भिड़ंत

जकार्ता. भारत ने 18वें एशियाई खेलों में महिला हॉकी के फाइनल में जगह बना ली है। उसने बुasian games 2018 womensधवार को सेमीफाइनल में चीन को 1-0 से हराया। शुक्रवार को फाइनल में भारत का मुकाबला जापान से होगा। जापान ने दूसरे सेमीफाइनल में गत चैम्पियन कोरिया को 2-0 से पराजित किया। भारत इससे पहले 1998 में फाइनल में पहुंचा था। भारत ने आखिरी बार 1982 में नई दिल्ली एशियाड में स्वर्ण पदक जीता था।

चीन ने पिछले एशियाड में रजत और भारत ने कांस्य पदक जीता था। इस हार के साथ 3 बार की पूर्व चैम्पियन चीन का लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया।

आखिरी क्वार्टर निर्णायक साबित हुआ : भारत और चीन के बीच खेला गया सेमीफाइनल मुकाबाल काफी संघर्षपूर्ण रहा। पहले तीन क्वार्टर में कोई भी टीम गोल नहीं कर पायी। भारत के लिए मैच का एकमात्र गोल गुरजीत कौर ने 52वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया। भारत को मुकाबले में सात पेनल्टी कॉर्नर मिले। भारत को 52वें मिनट में लगातार 3 पेनल्टी कॉर्नर मिले। पहले दोनों बेकार गए, लेकिन तीसरे यानी मैच के 7वें पेनल्टी कॉर्नर पर गुरजीत ने जो शॉट लिया वह गोलपोस्ट में पहुंच गया। गोल होते ही चीनी खिलाड़ियों ने विरोध दर्ज कराते हुए रेफरल मांगा। हालांकि, टीवी अंपायर ने रीप्ले देखने के बाद गोल को बरकरार रखा। भारत ने बाकी के आठ मिनट में अपनी बढ़त कायम रखते हुए फाइनल में जगह बना ली। आखिरी सीटी बजते ही भारतीय खिलाड़ी खुशी से उछल पड़ीं।