समाज्ञा

ये होगा Android P का नाम, इस बार बदलेगा ट्रेंड

दुनिया भर में सबसे ज्यादा यूज किया जाने वाला मोबाइल ओएस एंड्रॉयड है. हर साल गूगल एंड्रॉयड का नया वर्जन लेकर आता है. आम तौर पर इनका नाम स्वीट्स के नाम पर होता है, लेकिन इस बार शायद ऐसा नहीं है. पिछले एंड्रॉयड का नाम Android Oreo था, अब कंपनी Android P का डेवेलपर प्रिव्यू जारी कर चुकी है और पिक्सल सहित कुछ दूसरे स्मार्टफोन्स में दिया जा रहा है. लेकिन अभी तक इसका नामकरण नहीं हुआ है.

एक लीक से खुलासा हुआ है कि इस बार Android P को Android Pistachio का नाम दिया जाएगा. यह लीक पोलैंड से सामने आया है जहां हुआवे कस्टमर केयर किसी यूजर से चैट कर रहे थे और इस दौरान यह कस्टमर केयर एजेंट ने गलती से चैट में Android Pistachio का जिक्र करता है.  

यूजर ने कस्टमर केयर से पूछा कि क्या उसके Huawei P9 Lite Mini में Android 8.0 Oreo का सपोर्ट मिलेगा? इसके जवाब में कस्टमर केयर ने गलती से Android P का नाम बता दिया. आपको बता दें कि अगले महीने गूगल Android P का फाइनल बिल्ड का ऐलान कर सकता है और इसके बाद योग्य एंड्रॉयड डिवाइस में इसका अपडेट दिया जाएगा.

हालांकि इस स्क्रीनशॉट की प्रमाणिकता क्या है और एजेंट की कही बात कितनी सही है इसकी पुष्टि आज तक नहीं करता है.

हुआवे के कस्टमर केयर से पहले भी ये नाम सामने आ चुका है. ब्लूमबर्ग की एक पुरानी रिपोर्ट के मुताबिक गूगल Android P पर काम कर रहा है और इसे कंपनी के अंदर Pistachio Ice Cream कहा जा रहा है. ऐसा मुमकिन है कि गूगल इसे Pistachio Ice Cream कोडनेम से डेवेलप कर रहा हो और लॉन्च होने के बाद इसका नाम इसे दूसरे नाम से जाना जाएगा.

ऐडेप्टिव  ब्राइटनेस:

ये नया फीचर अब मशीन लर्निंग का उपयोग करेगा. इस दौरान ये समझने की कोशिश करेगा कि यूजर्स अलग-अलग सेटिंग्स में अपनी स्क्रीन की ब्राइटनेस कैसे रखना पसंद करते हैं.

 

ऐप एक्शन:

एंड्रॉयड पी में ऐप एक्शन फीचर दिया गया है जो ये प्रेडिक्ट करेगा कि आप अगला काम कौन सा करने वाले हैं. ताकि आप ज्यादा तेज और प्रोडक्टिव रह सकें. कंपनी ने उदाहरण के तौर पर बताया कि, यदि आपने अपने स्मार्टफोन में हेडफोन लगाया तो ये खुद ब खुद आपका प्ले लिस्ट ओपन करके दे देगा.

स्लाइसेस:

ये फीचर उन ऐप्स के बारे में आपको ज्यादा जानकारी देगा, जिसका आप सबसे ज्यादा उपयोग करते हैं.

डिजाइन चेंज:

नए एंड्रॉयड पी में गूगल ने नए सिस्टम नेवीगेशन के साथ यूजर इंटरफेस को बेहतर बनाया है. इसमें रीडिजाइन किया हुआ क्विक सेटिंग मिलेगा. साथ ही वॉल्यूम कंट्रोल, नोटिफिकेशन मैनेजमेंट और स्क्रीनशॉट को भी पहले से बेहतर बनाया गया है. इसके अलावा भी गूगल ने नए एंड्रॉयड में कुछ छोटे मोटे बदलाव किए हैं.