34 साल बाद मिला दुर्लभ सोने का अंडा, 1983 में इंग्लैंड के दंपत्ति ने कर दिया था गायब

साल 1983 में गायब हुआ विश्व का दुर्लभ सोने का 13वां अंडा मिल गया है। दरअसल 34 साल पहले कथित तौर पर इस अंडे को जिस दंपत्ति ने गायब किया था। उन्होंने ही खुद इसे बेच दिया है। सूत्रों के अनुसार सोने के इस दर्लभ अंडे को करीब 20 हजार पाउंड (16,64,440 रुपए) में बेचा गया है। गौरतल है कि 1983 में इस सजावटी अंडे को एक प्रदर्शनी के दौरान गायब कर लिया गया था। करीब 250 ग्राम के इस अंडे को खोजने के लिए पूरे ब्रिटिन में हजारों संदिग्ध लोगों से पूछताछ की गई। लेकिन सरकार अंडे को लेकर कोई जानकारी हासिल नहीं कर सकी। हालांकि दुर्लभ अंडा मिल गया है। वहीं दुर्लभ अंडा मिल जाने पर इसके मालिक ने खुशी जाहिर की है।

हालांकि अंडे की सत्यता को लेकर अभी आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है। कहा जा रहा है कि ऐसा भी हो सकता है कि ये खोया हुआ दुर्लभ अंडा ना हो। आपको बता दें कि सजावटी रूप से तैयार किया गया ये 13वां बड़ा सोने का अंडा है जिसे कैडबरी द्वारा निर्मित किया गया था। असल में इन अंडो को कंपनी के खुदरा व्यापारियों को सम्मानित करने के लिए निर्मित किया गया था। इसके लिए एक ड्रॉ का आयोजन किया गया। जिसमें लोगों जिन व्यापारियों का नाम आता उन्हें ये अंडे दिए जाते। इस दौरान कंपनी ने इसे वैश्विक स्तर पर ले जाने के लिए भी धन्यवाद दिया। दूसरी तरफ अंडा बनाने वाले जूलर ने बताया कि अंडे की लंबाई करीब तीन इंच है। जिसका वजन 323.6 ग्राम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *