मेट्रो लाइन में ट्रैफिक की गड़बड़ी से मची भगदड़

  • नेताजी मेट्रो स्ट्रेशन पर नॉन एसी रैक में देखा गया ध्आ
  • घूटन के कारण मेट्रो ट्रेन में यात्रियों ने की तोड़फोड़
कोलकाता, समाज्ञा
 
महानगर में टॉलीगंज मेट्रो के डाउन लाइन में ट्रैफिक की गड़बड़ी के कारण यात्रियों में भगदड़ मच गयी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दमदम मेट्रो स्टेशन से आ रही ट्रेन जैसे ही टॉलीगंज मेट्रो स्टेशन से रवाना हुई वैसे ही मेट्रो लाइन में गड़बड़ी हो गयी। इस कारण ट्रेन आगे नहीं बढ़ पायी और नेताजी मेट्रो स्टेशन पर अचानक रूक गयी। लगभग 9.30 बजे हुई इस गड़बड़ी के कारण पूरी डाउन लाइन की मेट्रो सेवा कुछ घंटों के लिए प्रभावित हो गयी। बताया जा रहा है कि नेताजी मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो टेन की केवल 2 बोगियां ही पहुंच पाई थी और इसके बाद बिजली सेवा भी प्रभावित हो गयी। सूत्रों के मुताबिक उस नॉन एसी मेट्रो ट्रेन में अचानक ध्ाुंआ भर गया जिससे यात्रियों को सांस लेने में तकलीफ होने लगी और उनमेेंं दहशत फैल गयी। मेट्रो अधिकारियों के पहुंचने के पहले यात्रियों ने अपनी जान बचाने के लिए मेट्रो ट्रेन की खिड़की तोड़ दी। वहीं मेट्रो ट्रेन से निकलने के बाद यात्री उग्र हो गये और ट्रेन में तोड़-फोड़ की घटना को अंजाम दिया। मेट्रो रेलवे की वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी इंद्राणी बनर्जी ने बताया कि रात के लगभग 9.30 बजे जैसे ही डाउन मेट्रो ट्रेन नेताजी मेट्रो स्टेशन पहुंचने वाली थी वैसे ही पावर ट्रिप हो गया। लगातार दो बार पावर ट्रिप होने की वजह से ट्रेन वहीं रुक गयी। खबर मिलते ही मोटर मैन ने मेट्रो के अंदर घोषणा करवा दी। इसके तुरंत बाद जब मेट्रो रेलवे के कर्मी यात्रियों को मेट्रो से निकालने गये तो उन्होंने देखा कि सभी उग्र हो गये और मेट्रो ट्रेन की खिड़कियों में तोड़फोड़ करने लगे। इसके बाद मेट्रो ट्रेन की दो बोगियों के 3 दरवाजों को खोल कर सभी यात्रियों को बाहर निकाला गया। उन्होंने कहा कि उक्त ट्रेन के पीछे 4 अन्य डाउन टे्रन भी थी जिन्हें वापस अप ट्रैक पर ले जाया गया। वहीं दूसरी ओर यात्रियों का कहना है कि नेताजी मेट्रो स्टेशन पहुंचने से पहले 2 बार जोरदार धमाका हुआ और ट्रेन अचानक रुक गयी। बोगी में ध्ाुंआ भर गया और सांस लेने में तकलीफ होने लगी। यात्रियों ने आरोप लगाया कि धमाका होने के बावज्ाूद ड्राइवर ने ट्रेन को नहीं रोका और उसे स्टेशन की ओर ले गया। लोगों का कहना है कि इस घटना से उनकी सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *